अनाज के लिए अभी और इंतजार: 88 प्रतिशत परिवारों का नवीन पात्रता पर्ची तैयार, भोपाल से मात्र 50 फीसदी अपडेशन

31 हजार परिवारों में 28 हजार परिवारो को नवीन खाद्य पर्ची से मिलेगी अनाज

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 17 Sep 2020, 06:00 AM IST

अनूपपुर। जिले में शासकीय खाद्यान्न योजना से वंचित परिवारों के लगभग १२ प्रतिशत परिवारों को खाद्यान्न के लिए अभी और इंतजार करना पड़ेगा। यहीं नहीं जिन परिवारों का नाम सूची में शामिल हो गया, उन्हें भी फिलहाल अनाज से वंचित होना पड़ेगा, क्योंकि विभागीय सूची में शामिल परिवारों का नाम भोपाल के सॉफ्टवेयर में अपडेट नहीं हो सका है। जबकि नवीन परिवारों को खाद्यान्न पर्ची का वितरण १५ अगस्त को पूरा किया जाना था। लेकिन अपरिहार्य कारणों में यह तिथि दिनों-दिनों बढ़ती गई। हालात यह बने कि माहभर बाद शासन द्वारा १६ सितम्बर को नवीन पात्रता परिवारों को विशेष कार्यक्रमों के माध्यम से पर्ची सौंपा गया। इसमें अब भी ३८०१ पात्रता परिवार के सदस्य योजना से वंचित रह गए। हालांकि विभाग ने इन शेष परिवारों के नामों को तत्काल सूची में शामिल कर भोपाल भेजे जाने की बात कही है। वहीं विभाग का कहना है कि हमारी ओर से जितने परिवारों के नामों की सूची भेजी गई है उनमें मात्र ५० फीसदी से अधिक परिवारों के नामों का अपडेशन कम्प्यूटर में हो सका है। लेकिन इनमें राहत की बात यह है कि पूर्व में जिले में जहां २० हजार नवीन परिवारों को खाद्यान्न पात्रता पर्ची मिल रही थी, वहीं प्रदेश खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री द्वारा दिए गए निर्देश में पुन: संशोधित कर लगभग ३२ हजार परिवारों को जोडऩे का प्रयास किया गया। जिसमें कुल परिवार ३१७५१ परिवारों की सूची नवीन पात्रता हितग्राही सूची में निर्धारित की गई है। माना जाता है कि मुख्यमंत्री के अनूपपुर में प्रस्तावित कार्यक्रम व उनकी तैयारियों के कारण शत प्रतिशत का कार्य पूरा नहीं हो सका, नहीं तो जिले में शत प्रतिशत लक्ष्य पूरा करते हुए ३१७५१ परिवारों की सूची तैयार हो जाती। फिलहाल जिले में 28036 पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा चुका है। जबकि कुल २७७६९ निराकृत हो चुके हैं। नगरीय क्षेत्र में १८१ तथा पंचायत स्तर पर ३८०१ परिवारों का निराकरण शेष है। इस प्रकार कुल ८८ प्रतिशत परिवारों को सत्यापन का कार्य पूरा हुआ है।
बॉक्स: कहां कितने परिवारों को जारी पात्रता पर्ची
जनपद/ नगरपालिका लक्ष्य निराकृत
नप पसान १००३ १०००
नप जैतहरी ५६२ ५२८
जप अनूपपुर ५८९१ 55२७
नप अनूपपुर १०१५ ९४०
जप कोतमा २२६२ २०४८
नप कोतमा १०५७ ९४६
नप बिजुरी १०९२ ९८०
नप अमरकंटक ४७६ ४१५
जप जैतहरी ९४०२ ८१८६
जप पुष्पराजगढ़ ८९९१ ७१९९
-----------------------------
बॉक्स: परिवारों को मिलेगा ये लाभ
खाद्यान्न पात्रतापर्ची धारियों को 1 रुपए प्रति किलो की दर से प्रति सदस्य 5 किलो खाद्यान्न, प्रति परिवार एक रुपए किलो की दर से 1 किलो नमक, प्रति परिवार डेढ़ लीटर केरोसीन, कलेक्टर द्वारा निर्धारित दर पर माह नवम्बर 2020 तक पीएमजीकेएवाय में प्रति सदस्य 5 किलो अतिरिक्त खाद्यान्न एवं 1 किलो दाल नि:शुल्क प्रदान की जाएगी।
बॉक्स: कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे- जिपं अध्यक्ष रूपमति सिंह
जिला स्तरीय अन्न उत्सव कार्यक्रम में मुख्य अतिथि जिपं अध्यक्ष रूपमती सिंह ने कहा शासन के निर्देशानुसार कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे की सोच पर जिला प्रशासन एवं खाद्य विभाग के अमले द्वारा सक्रियता से कार्य किया गया। कोरोना संक्रमण के दौर में ज़रूरतमंदों को राशन एवं आवश्यकता पडऩे पर पका हुआ भोजन भी उपलब्ध कराया गया। नवीन पात्र हितग्राहियों को खाद्यान्न पात्रता पर्ची उपलब्ध कराने युद्धस्तर पर प्रयास किए गए। गऱीबों, बेसहारा लोगों का कल्याण शासन की प्राथमिकता है इस के लिए कार्य जारी रहेगा।
बॉक्स: अनाथ किशोरी बनी गांव की बेटी
गांव पाली में नाबालिक पार्वती को अब ग्रामीणों ने गांव की बेटी के रूप में घोषित किया है। साथ ही उसकी देखभाल की भी जिम्मेदारी ली है। भाजपा नेता मनोज द्विवेदी ने बताया कि १४ वर्षीय पार्वती के पिता शेर सिंह की मृत्यु पर्व में हो गई थी, इसके बाद मां का भी निधन हो गया। जिसके बाद पार्वती परिवार में एक मात्र बेटी के रूप में रह गई। अनाथ बेटी को देखते हुए अब समूचे गांव की बेटी घोषित कर उसके देखभाल की जिम्मेदारी ग्रामीणों ने ली है।
----------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned