scriptSuggestions to improve training and records, instructed officers to pr | प्रशिक्षण और रेकार्ड को और बेहतर बनाने का सुझाव, अधिकारियों को एनक्यूएएस की तैयारियों का दिया निर्देश | Patrika News

प्रशिक्षण और रेकार्ड को और बेहतर बनाने का सुझाव, अधिकारियों को एनक्यूएएस की तैयारियों का दिया निर्देश

जिला अस्पताल के कायाकल्प की जांच में पहुंच दो सदस्यी टीम, व्यवस्थाओं का लिया जायजा

अनूपपुर

Updated: December 29, 2021 11:57:01 am

अनूपपुर। जिला अस्पताल में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने और अस्पताल को एनक्यूएएस की दहलीज तक पहुंचाने की जद्दोजहद में कायाकल्प योजना के तहत फाइनल असेसमेंट निरीक्षण में २८ दिसम्बर को भोपाल की दो सदस्यी टीम ने जिला अस्पताल अनूपपुर का निरीक्षण किया। जहां सुबह १० बजे से दो सदस्यी टीम ने परिसर के नेत्र विभाग, डॉक्टर कक्ष, नि:शुल्क दवा वितरण केन्द्र, ड्रेसिंग रूम, मरीज भर्ती वार्ड, नर्स स्टाफ रूम, सुविधाघर, मेटरनिटी विंग, ऑपरेशन थियेटर, टीबी वार्ड, सिकलसेल वार्ड, एसएनसीयू वार्ड, पेड्रियाट्रिक वार्ड, महिला वार्ड सहित मर्चुरी थियेटर व ट्रामा सेंटर बिल्डिंग में स्थापित हो रही सीटी स्कैन, एक्सरे सेंटर का निरीक्षण किया। दो सदस्यी जांच टीम में डॉ. जेपी चेचाम, डॉ. शरण मेश्राम (मंडला)शामिल रहे। जांच टीम ने जिला अस्पताल के पदाधिकारियों के साथ निरीक्षण करते हुए विभागों में कार्यरत कर्मचारियों से कार्य विधाओं को लेकर उनसे पूछताछ की। यहीं नहीं कर्मचारियों के हिचकिचाहत को देखते हुए नहीं घबराने की सलाह देते हुए अपने ड्यूटी के दौरान नियमित की जाने वाली कार्रवाई के बारे में ही जानकारी देने की बात कही। वहीं जिला अस्पताल प्रबंधक व कायाकल्प से जुड़े अधिकारियों को एनएएसक्यू के लिए होने वाले विशेष तैयारियों के लिए भी दिशा निर्देश दिए। अस्पताल परिसर में निर्माणाधीन कार्यो को भी जल्द पूर्ण कराने निर्देश दिए। जांच टीम अधिकारियों ने अस्पताल में बदली गई काया और पूर्व से बेहतर बनी व्यवस्थाओं पर संतोष जाहिर करते हुए स्टॉफों को और अधिक प्रशिक्षण देने और रिकार्ड को बेहतर बनाने के निर्देश दिए। उनका कहना था कि स्टाफों को प्रशिक्षण देने से उनकी हिचकिचाहट दूर हो जाएगी और कार्य में और कुशलता आएगी। वहीं रेकार्ड मेंटनेंस वर्क को बेहतर रखने से कम समय में सटिक जानकारी सामने आ पाएगी। वरिष्ठ फर्मासिस्ट अधिकारी डॉ. शरण मेश्राम ने बताया कि जिला अस्पताल अनूपपुर में पूर्व से अधिक बदलाव आ गए हैं। नवीन भवन में शिफ्टिंग के बाद जिला अस्पताल अनूपपुर की कार्य विधाएं और कायाकल्प में आई तब्दीली का साफ असर दिखेगा। यहां संसाधनों में भी बढोत्तरी हो गई है। डॉक्टरों और स्टाफो की कमी प्रदेश स्तर की समस्या है। अनूपपुर जिला अस्पताल जिस प्रकार से प्रदेश के टॉप १० में शामिल हुआ, यह भी आश्चर्य की बात रही है। विदित हो कि कायाकल्प के तहत सेनिटेशन, हाईजिन, वेस्ट मैनेजमेंट, सर्विस प्रोमोशन, सपोर्ट्स सर्विस, इंफेक्शन कंट्रोल, क्लालिटी मैनेजमेंट, फीड बैक सहित अन्य ३०० मानक बिन्दूओं पर जांच की जाती है। जिसके लिए ६०० अंक निर्धारित किए गए हैैैैैं।
बॉक्स: प्रदेश के टॉप १० में है जगह
२०२० में कायाकल्प निरीक्षण के लिए आई टीम ने लगभग शत प्रतिशत के आसपास अंक दिया था। जिसमें अस्पताल को तेजी से उभरने वाले अस्पताल के लिए ५ लाख की अवार्ड राशि प्रदान की थी। बेस्ट ऑफ के लिए कम से कम ७० प्रतिशत बेस लाइन अंक को पार करना आवश्यक है। आरएमओ जिला अस्पताल डॉ. विजयभान सिंह ने बताया कि कायाकल्प अवार्ड योजना मुख्य रूप से स्वास्थ्य केंद्रों में सफाई सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं में दिए जाते हैं। इनमें सेनिटेशन, हाईजिन, वेस्ट मैनेजमेंट, इंफेक्शन कंट्रोल, सपोर्ट सर्विस सहित अन्य मानक को निर्धारित किया गया है। ताकि अस्पतालों में प्रतिस्पर्धी भाव का भी विकास उत्पन्न कर शासन स्तर से मरीजों को शासकीय अस्पतालों से ही बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराया जा सके।
बॉक्स: पूर्व के निर्देशों में नहीं हटा जेनरेटर, मरीजों की अब भी परेशानी
भले ही कायाकल्प में जिला अस्पताल में निरीक्षण के दौरान टीम द्वारा छोटी-मोटी कमियों को दूर करने निर्देशित किया गया हो। लेकिन हर बार टीम द्वारा स्वास्थ्य प्रबंधक से जेनरेटर हटाने के दिए निर्देशों में अब तक अस्पताल भवन के आंगन में स्थापित उच्च क्षमता की जेनरेटर को नहीं हटाया गया है। यहां स्थापित जेनरेटर बिजली गुल के दौरान धुआं और शोर के साथ मरीजों व चिकित्सकों के लिए परेशानी का कारण भी बनता है। बावजूद अस्पताल प्रबंधक द्वारा इसकी वर्षो से अनदेखी की जा रही है।
वर्सन:
अस्पताल में कायाकल्प के प्रावधानों के तहत व्यवस्थाएं बेहतर बनाने का प्रयास किया गया है। जांच टीम ने निरीक्षण किया है, जो उनकी रिपोर्टिंग होगी उसके आधार पर हमारा मूल्यांकन होगा।
डॉ. एससी राय, सिविल सर्जन जिला अस्पताल अनूपपुर।
------------------------------------------------
Suggestions to improve training and records, instructed officers to pr
प्रशिक्षण और रेकार्ड को और बेहतर बनाने का सुझाव, अधिकारियों को एनक्यूएएस की तैयारियों का दिया निर्देश

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहदुल्हन के लिबाज के साथ इलियाना डिक्रूज ने पहनी ऐसी चीज, जिसे देख सब हो गए हैरानकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेश

बड़ी खबरें

RRB-NTPC Results: प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोले रेल मंत्री, रेलवे आपकी संपत्ति है, इसको संभालकर रखेंRepublic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवानहीं चाहिए अवार्ड! इन्होंने ठुकरा दिया पद्म सम्मान, जानिए क्या है वजहजिनका नाम सुनते ही थर-थर कांपते थे आतंकी, जानें कौन थे शहीद ASI बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रRepublic Day 2022: 'अमृत महोत्सव' के आलोक में सशक्त बने भारतीय गणतंत्रCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 7,498 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 10.59%डायबिटीज के पेशेंट्स के लिए फायदेमंद हैं ये सब्जियां, रोजाना करें इनका सेवनक्या दुर्घटना होने पर Self-driving Car जाएगी जेल या ड्राइवर को किया जाएगा Blame? कौन होगा जिम्मेदार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.