जर्जर सडक़ ने बढ़ाई ग्रामीणों की परेशानी, ठेकेदार ने निर्माण में बिछया गिट्टी, पैदल और वाहन चलना भी मुश्किल

कोतमा से सेमरिहा तिराहा तक परेशानियों के बीच आवागमन यात्रा करने को मजबूर राहगीर

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 04 Oct 2021, 10:49 AM IST

अनूपपुर। कोतमा से रेऊला होकर सेमरिहा तिराहे तक जाने वाली सडक़ जर्जर हो गई है। लगभग २१ किलोमीटर लम्बी सडक़ पूरी तरह जर्जर हालत में वर्षो से पड़ी है, जिसका निर्माण कार्य पीएमजीएसवाई की तरफ से १० करोड़ की लागात से किया जा रहा है। लेकिन ठेकेदार द्वारा आरम्भ किए गए निर्माण कार्य में बिना यात्रियों की सुविधा देखे हुए सडक़ पर गिट्टी बिछा दी है। यह गिट्टी लगभग डेढ़ किलोमीटर की लम्बाई तक बिछाई गई है। इससे बाइक सवार सहित पैदल यात्रियों को पैदल चलने में भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसकी वजह से आए दिन दुर्घटनाएं भी इस मार्ग पर होती रहती हैं। बताया जाता है कि जिले के कई ग्रामों को कोतमा नगर से यह मुख्य मार्ग जोड़ता है। जिसमें बाजार के साथ ही रोजगार के लिए प्रतिदिन ग्रामीण क्षेत्रों से लोगों का आना जाना लगा रहता है। इसके साथ ही यह मार्ग शहडोल जिले के केशवाही को भी जोड़ती है। दो दर्जन से ज्यादा ग्रामों को जोडऩे वाली यह सडक़ जर्जर होने से ग्रामीण आबादी को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।
बॉक्स: निर्माण की धीमी रफ्तार ने बढ़ाई परेशानी
पीएमजीएसवाई विभाग के द्वारा सेमरिहा तिराहे से कोतमा तक जर्जर सडक़ के निर्माण की जिम्मेदारी ठेकेदार को सौंपी गई है। जहां ठेकेदार के द्वारा पिछले 3 महीनों से धीमी गति से कार्य किए जाने के कारण लोगों को परेशानी को बढ़ा दिया है। वर्तमान में ठेकेदार के द्वारा मुड़धोबा से देवगवा तक सडक़ को उखाड़ते हुए इस पर गिट्टी डालकर छोड़ दिया गया है। जिस पर अब तक रोलर भी नहीं चलाया गया है, जिसके कारण गिट्टी के ढेर पर दो पहिया वाहन चालकों के गुजरने से वह वाहन के अनियंत्रित होने से दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। विभाग द्वारा लगभग 10 करोड रुपए की लागत से 21 किलोमीटर सडक़ का निर्माण कराया जा रहा है । जिसके निर्माण का ठेका जबलपुर की एजेंसी को मिला है। जिसे मार्च 2022 में निर्माण कार्य पूर्ण करने की समय सीमा निर्धारित की गई है।
वर्सन:
बारिश के कारण कार्य धीमी गति से किया जा रहा था, लेकिन अब तेजी से कार्य कराते हुए निर्धारित समय में पूर्ण कराया जाएगा। ठेकेदार को यात्री सुविधा को देखते हुए गिट्टी बिछाने के लिए निर्देशित करता हूं।
एमएम हाशमी, उपयंत्री पीएमजीएसवाई अनूपपुर।
------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned