scriptThe direction and condition of education changed from Corona, online a | कोरोना से बदली शिक्षा की दिशा और दशा, ऑनलाइन वैकल्पिक, गुणवत्ता युक्त शिक्षा के लिए ऑफलाइन ही बेहतर | Patrika News

कोरोना से बदली शिक्षा की दिशा और दशा, ऑनलाइन वैकल्पिक, गुणवत्ता युक्त शिक्षा के लिए ऑफलाइन ही बेहतर

कोरोना संक्रमण के दौर में 2 वर्ष तक प्रभावित हुई शिक्षा के बाद बोले स्कूल संचालक, नियमित हो कक्षाएं

अनूपपुर

Updated: April 07, 2022 12:00:17 pm

अनूपपुर। कोरोना महामारी के दौरान 2 वर्ष तक ऑनलाइन क्लासेस संचालित करते हुए कोरोना संक्रमण के समय वैकल्पिक व्यवस्था बनाई गई। जिसमें ऑनलाइन शिक्षा उतनी कारगर साबित नहीं हुई। स्कूल प्रबंधन के साथ ही छात्र छात्राओं के अभिभावक भी इन बातों को स्वीकार कर रहे हैं। जिसके बाद नए शैक्षणिक सत्र में किस तरह से स्कूलों का संचालन हो एवं स्कूल प्रबंधन किस तरह की उम्मीदें और तैयारियां नए शैक्षणिक सत्र से कर रहा है। जिसको लेकर पत्रिका के द्वारा स्कूल प्रबंधकों से बात करते हुए इसकी जानकारी ली गई है। ज्यादातर स्कूल संचालकों का कहना है कि ऑनलाइन शिक्षा पद्धति को विकल्प के रूप में प्रारंभ किया गया, लेकिन इसका विपरीत प्रभाव भी बच्चों पर पड़ा है, इससे इंकार नहीं किया जा सकता है। पढ़ाई के साथ ही मोबाइल रखने की वजह से बच्चों का ध्यान ऑनलाइन गेम्स सहित अन्य चेटिंग सामग्रियों पर भी परिवर्तित हुआ है। जो अधिकांश बच्चों में एक लत से लग गई है, इसमें बच्चों के हाथों में मोबाइल उन्हें पारिवारिक भीड़ से अलग खींच रही है। जिससे अभिभावक भी चिंतित हैं कि मोबाइल अब बच्चों की आदत बनते जा रहा है। जानकारों का कहना है कि स्कूल में जाने से बच्चे घर के बाहर निकलेंगे और अपनी जिम्मेदारी को समझेंगे इसके साथ ही अन्य गतिविधियों में भी वह शामिल होंगे। साथ ही आंखों के सामने गुजरते हरेक पल की अच्छी और बुरी हालातों से रूबरू भी होंगे और उनसे निकलने अपने बौद्धिक क्षमताओं का आंकलन भी करेंगे। स्कूल में जहां बच्चे का शारीरिक, मानसिक व बौद्धिक विकास तो होगा ही इससे वे अनुशासन का पाठ भी पढ़ेंगे। स्कूल संचालकों का कहना है कि बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए वह स्कूल जाकर पढ़े तो इससे उनके नतीजे ज्यादा बेहतर होंगे। उनमें डिसप्लिन और मैनर्स अधिक सीखने को मिलेंगे।
बॉक्स: 2 वर्ष की कमी को पूरा करना होगा
बेथेल मिशन स्कूल के डायरेक्टर पीके पुन्नुस बताते हैं कि कोरोना संक्रमण के दौरान 2 वर्ष में पढ़ाई को लेकर जो नुकसान हुआ है उसे पूरा किया जाए। बच्चे के सर्वांगीण विकास के लिए जरूरी है कि वह स्पोर्ट्स सहित अन्य सभी एक्टिविटी से जुड़े। ताकि दो सालों के भीतर बच्चों के भीतर समाज के भीतर रहने के बावजूद एकांकीपन जो आया है उसे दूर किया जा सके।
बॉक्स: बौद्धिक विकास ऑफलाइन शिक्षा से ही संभव
सेंट जोसेफ स्कूल बिजुरी के प्रिसिंपल टॉमी थॉमस का कहना है कि ऑफलाइन क्लासेस का फायदा सीधे तौर पर मिलता ही है। स्कूल आने के बाद बच्चें जोश व उत्साह से भरे होते हैं। स्कूल आकर विद्यार्थी ज्यादा सीखते हैं स्कूल आने से विद्यार्थियों को अधिक फायदा होता है उनका बौद्धिक विकास भी अधिक होता है। सैकड़ों बच्चों के बीच मैनर्स, डिसप्लिन के साथ एक दूसरे के साथ फ्रेंडशिप जैसी भावना भी बनती है, जो समाज के निर्माण में सहायक बनता है।
बॉक्स: भय निकलना होगा
उत्कृष्ट विद्यालय अनूपपुर के प्राचार्य एचएल बहेलिया बताते हैं कि कोरोना संक्रमण के दौरान विद्यार्थी और उनके परिजनों के मन में जो भय स्कूल जाने को लेकर बन गया है। उसे दूर करने का समय आ गया है। उम्र के हिसाब से बच्चों का विकास होना चाहिए और इसके लिए ऑफ लाइन क्लास जरूरी है। बिना किसी भय के स्कूली वातावरण में अब पढ़ाई पर पूरा फोकस करना होगा।
बॉक्स: ऐकडेमिक माहौल तैयार हो
सनराइज पब्लिक स्कूल निगवानी के डायरेक्टर दीपक शर्मा का कहना है कि जो महामारी का समय रहा उस समय बच्चों की प्रैक्टिस नहीं हो पाई, इस लंबे अंतराल का असर शिक्षण व्यवस्था पर साफ देखने को मिला है। अब एकेडमिक माहौल तैयार हो चुका है सभी ऑफलाइन ही स्कूल से जुड़े।
----------------------------------------------
The direction and condition of education changed from Corona, online a
कोरोना से बदली शिक्षा की दिशा और दशा, ऑनलाइन वैकल्पिक, गुणवत्ता युक्त शिक्षा के लिए ऑफलाइन ही बेहतर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

अफगानिस्तान के काबुल में भीषण धमाका, तालिबान के पूर्व नेता की बरसी पर शोक मना रहे लोगों को बनाया गया निशानाPunjab Borewell Accident: बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, अस्पताल में हुई मौतBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमIPL 2022, SRH vs PBKS Live Updates: पंजाब ने हैदराबाद को 5 विकेट से हरायाकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट का रो रहे हैं रोना, यहां जानेंपुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.