जिले की बाहरी सीमाएं हुई सील, कलेक्टर ने लॉकडाउन के दिए आदेश

धारा 144 के तहत 22 मार्च की रात 9 बजे से 31 मार्च रात12 बजे तक प्रतिबंधात्मक निषेधाज्ञा जारी

By: Rajan Kumar Gupta

Updated: 22 Mar 2020, 07:30 PM IST

अनूपपुर। जबलपुर में कोरोना संक्रमण से प्रभावित चार मरीजों की पुष्टि के बाद अनूपपुर जिला कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने सुरक्षा की दृष्टि से जिले को तत्काल प्रभाव से पूर्ण लॉकडाउन घोषित किया है। साथ ही जिले की सीमाओं को आगामी ३१ मार्च की रात १२ बजे तक सील कर दिया है। पूर्ण लॉकडाउन में किसी भी व्यक्ति को अपने घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। जबकि किसी भी माध्यम सडक़ अथवा रेल से जिले की सीमा में बाहरी लोगों का आगमन प्रतिबंधित होगा। वहीं जिले में निवासरत सभी नागरिकों का जिले की सीमा से बाहर जाना भी तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित कर दिया गया है। इसके अलावा पूर्ण लॉकडाउन में जिले के समस्त शासकीय और अद्र्धशासकीय कार्यालय बंद रहेंगे। मेडिकल दुकान और अस्पताल को छोडकर शेष समस्त व्यवसायिक प्रतिष्ठानें भी बंद रहेगी। जबकि जिले की समस्त स्कूल, कॉलेज, कोचिक सेंटर, ट्यूशन क्लाश, सिनेमा हॉल, मैरेज गार्डन, सार्वजनिक पुस्तकालय, समस्त आंगनबाडियां, समस्त बैंक शाखाएं, समस्त मदिरा दुकानें तथा समस्त धार्मिक संस्थान जैसे मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारा, चर्च, आश्रम आदि तत्काल प्रभाव से बंद रहेंगे। अति आवश्यक सेवाएं जैसे. राजस्व, स्वास्थ्य, पुलिस, विद्युत, पेट्रोल तथा डीजल पंप, दूरसंचार, नगर पालिका, पंचायत आदि इससे मुक्त रहेंगे। अन्य सभी कार्यालय तत्काल प्रभाव से बंद रहेंगे। कलेक्टर ने बताया कि जो व्यक्ति 1 जनवरी के बाद अनूपपुर जिले की सीमा में आए हों तथा जिन्हें सर्दी, खांसी अथवा बुखार जैसे लक्षण का आभास हो रहा हो वे अपने निकटतम शासकीय अस्पताल अथवा थाना, तहसील को सूचित करें। यदि अन्य स्त्रोतों से ऐसी सूचना प्राप्त होती है और जांच करने पर संबंधित व्यक्ति द्वारा जानबूझकर जिले की सीमा से बाहर से आने के बारे में जानकारी छिपाई जाती है तो संबंधित व्यक्ति के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराकर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। जिन व्यक्तियों को मेडिकल जांच उपरांत होम क्वरेन्टाइन घर में 14 दिवस तक रहने के लिए निर्देशित किया जाता ह उन्हें किसी भी परिस्थिति में 14 दिन तक घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी।
बॉक्स: अति आवश्यक वस्तु की दुकानें दो घंटे के लिए खुलेंगी
इमरजेंसी ड्यूटी वाले शासकीय कर्मचारी केवल ड्यूटी के प्रयोजन से पूर्ण लॉकडाउन प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। इन कर्मचारियों को अपने साथ शासकीय पहचान पत्र रखना अनिवार्य होगा। घर-घर जाकर दूध बांटने वाले दूध विके्रता सुबह 6 बजे से 9 बजे तक पूर्ण लॉकडाउन प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। जबकि अति आवश्यक वस्तुएं जैसे खादय सामग्री, राशन, पीडीएस दुकान, सब्जी की दुकाने दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक खुली रहेंगी। इन आवश्यक सामग्रियों की खरीदी के लिए आम जनता को प्रतिदिन इन दो घंटों में छुट प्रदाय की जाएगी। यह छूट होम क्वरेन्टाइन में रखे गए व्यक्तियों पर लागू नहीं होगी।
------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned