विवश बैगा परिवार: गांव में नहीं बिजली, पानी और सडक़ की सुविधा, मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे ग्रामीण

पथरीले रास्तों के कारण आपातकालीन वाहन सुविधा भी नहीं पहुंच पा रही गांव, कुंए के पानी से बुझ रही प्यास

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 30 Dec 2020, 11:50 AM IST

अनूपपुर। पुष्पराजगढ़ जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत लमसरई के ग्राम हर्रा पानी के ग्रामीण आज भी मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं। 18 घरों में यहां लगभग 110 बैगा परिवार निवासरत है, जिन्हें बिजली पानी तथा सडक़ की मूलभूत सुविधा भी आज तक शासन से नहीं मिल पाई है। प्रकृति पुत्र कहे जाने वाला यह बैगा समुदाय आज भी आदिम युग में अपना जीवन यापन कर रहे हैं। जबकि शासकीय स्तर पर बैगा समुदाय को सरंक्षित श्रेणी में शामिल कर उनकी जरूरतों को पूरा करने अनेक योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। बताया जाता है कि ग्राम हर्रा पानी में आज भी आपातकालीन सुविधाओं का लाभ स्थानीय ग्रामीणों को नहीं मिल पाता है । ग्रामीण गन्नू बैगा ने बताया कि पुलिस, एंबुलेंस तथा जननी एक्सप्रेस वाहन भी पथरीले रास्तों के कारण गांव तक नहीं पहुंच पाते। ऐसे में यहां के ग्रामीण चारपाई या कंधे पर उठाकर मरीजों को मुख्य मार्ग तक लेकर आते हैं जिसके बाद वाहनों से इलाज के लिए जाते हैं।
बॉक्स: बिजली और पानी के लिए भी नहीं कोई इंतजाम
गांव में आज तक बिजली के खंबे नहीं पहुंच पाए हैं। मजरे टोले को विद्युतीकरण करने की योजना जिले में कागजों में ही दफन होकर रह गई है। जिसके कारण बैगा परिवारों को अंधेरे में जीवन यापन करना पड़ रहा है। स्थानीय ग्रामीण फगनू बैगा ने बताया कि पेयजल के लिए ग्रामीण पुराने कुएं पर आश्रित है। जिसका पानी भी गंदा होने के कारण समीप ही खेत में स्थित झिरिया का पानी पीने की मजबूरी बनी हुई है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग आज तक यहां एक हैंडपंप का उत्खनन भी नहीं करा पाया। जबकि ग्रीष्मकाल के आते ही गांव में स्थित यह जल स्रोत भी सूख जाते हैं।
बॉक्स: अधिकारियों ने अबतक नहीं ली सुध
ग्रामीणों ने बताया कि इस समस्या को लेकर पिछले कई वर्षों से वह ग्राम पंचायत सरपंच तथा चुनाव के समय पहुंचने वाले जनप्रतिनिधियों से आग्रह कर चुके हैं। लेकिन अब तक किसी ने इस समस्या को दूर करने अब तक कोई पहल नहीं की है। जिसके कारण मुश्किलों के बीच उन्हें जीवन यापन करना पड़ रहा है।
--------------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned