आंधी और बारिश से रबी फसलों को नुकसान की आशंका, किसानों के माथे पर चिंता की लकीर

दोपहर बदला मौसम का मिजाज: अभी बारिश के और आसार, ओलावृष्टि की आशंका, हवाओं में बनी नमी

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 10 Apr 2021, 11:37 AM IST

अनूपपुर। जिले में पश्चिमी विक्षोप के कारण पिछले दो दिनों से मौसम में आ रही उमस में शुक्रवार को आंधी के साथ रिमझिम बारिश ने जिले को भींगो दिया। वहीं आसमान में रह रह कर कडक़ड़ाती बिजली के साथ गरज के साथ रात तक बारिश और तेज हवाओं का दौर बना रहा। दोपहर अचानक बदले मौसम के मिजाज और बारिश से हवाओं में नमी बन आई है। वहंी तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। दिन का अधिकतम तापमान ३५ डिग्री तथा न्यूनतम १८ डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। कृषि विभाग ने अभी और बारिश की सम्भावनाएं जताई जा रही है। एक ओर जहां झुलस भरी गर्मी और लोगों ने राहत महसूस की है, वहीं आंधी और बारिश से किसानों माथे पर चिंता की लकीरें खींच आई है। वर्तमान में किसानों द्वारा रबी फसल की कटाई की जा रही है। जिसमें कुछ किसानों की फसलें अभी खेतों में तैयार खड़ी है, तो कुछ की गहाई हो रही है। जबकि अधिकांश किसानों के खेतों में रबी की कटाई की जा रही है। इस बारिश और नमी से ऐसे फसलों को नुकसान की आशंका जताई जा रही है। कृषि उपसंचालक एनडी गुप्ता ने बताया कि यह बारिश किसानों के लिए मुसीबत से कम साबित नहीं होने वाली है। अभी किसान फसलों की तैयारी में जुटे हैं। इस असामायिक बारिश से गेहूं, चना, मसूर, और सरसों को सबसे अधिक नुकसान है। जबकि आम और महुआ को भी तेज हवाओं से अधिक नकुसान होगा। उपसंचालक कृषि का मानना है कि अधिकांश किसानों की फसलें गहाई के लिए खलिहानों में रखी हुई है, जिनके गीला होने पर उनके दानें के सडऩे का खतरा बना रहेगा, इसके अलावा गेहूं सहित अन्य फसलों के दाने की स्वाभाविक चमक गायब हो जाएगी। विभागीय जानकारी के अनुसार जिले में इस वर्ष ८९ हजार हेक्टेयर में गेहूं और अनाज की बुवाई, ३७.३० हजार हेक्टेयर के लक्ष्य में ३६.५५ हजार हेक्टेयर में दलहनी फसलों की बुवाई की गई है। चना १४.३० हजार हेक्टेयर, मटर ३.३० हजार हेक्टेयर, मसूर १८.०६ हजार हेक्टेयर में है।
बॉक्स: ओलावृष्टि की आशंका
आसमान में छाए काले बादल और बारिश के बीच कृषि विभाग ने ओलावृष्टि की भी आशंका जताई है। विभाग का मानना है कि प्रदेश के अनेक हिस्सों में ओलावृष्टि हुई है। इससे जिले में भी ओलावृष्टि का खतरा माना जा सकता है। विभाग ने किसानों से अपनी फसलों को सुरक्षित स्थलों पर भंडारित करने के साथ फिलहाल खेतों में लगी फसल की कटाई से मनाही की है, ताकि बारिश के कारण खेतों में बिछी फसल नमी से खराब न हो।
वर्सन:
बारिश से रबी की फसलों को नुकसार होगा, आसमान में जिस प्रकार बादल छाए हैं, उससे ओलावृष्टि की भी आशंका है। फिलहाल बारिश अभी और होगी।
एनडी गुप्ता, उपसंचालक कृषि अनूपपुर।
---------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned