माँ नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक में तीन दिवसीय नर्मदा जन्मोत्सव शुरु

- अमरकंटक में तीन दिवसीय नर्मदा जन्मोत्सव
- तालाबों को किया जाए अतिक्रमण मुक्त
- अमरकंटक में अवैध होटलों पर नजर
- नर्मदा उदगम स्थल का मानसून पूर्व गहरीकरण के दिए निर्देश
- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सपरिवार हुए शामिल

By: Hitendra Sharma

Updated: 19 Feb 2021, 08:13 AM IST

अमरकंटक. माँ नर्मदा के उद्गम स्थल पवित्र अमरकंटक नगरी में तीन दिवसीय नर्मदा जन्मोत्सव शुरु हो गया है। उत्सव के पहले दिन प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पहुंचे। सीएम ने सपरिवार नर्मदा मंदिर में माँ नर्मदा की आरती की। इस मौके पर मुख्यमंत्री चौहान ने माँ नर्मदा पर केन्द्रित पुस्तक का विमोचन भी किया। इस पुस्तक में अमरकंटक के पर्यटन स्थलों की जानकारी भी है।

साधु-संतों का सम्मान
आरती के बाद मुख्यमंत्री ने श्रद्धालुओं एवं आम लोगों से अपील की कि नर्मदा में गंदगी नहीं करने का संकल्प लें। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिये वह साल भर तक रोज एक पौधा लगाएंगे। मुख्यमंत्री ने सभी से अपील की कि साल में एक पौधा अवश्य लगाएं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पवित्र नगरी अमरकंटक में तीन दिवसीय माँ नर्मदा जन्मोत्सव 2021 का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ कर साधु-संतों का शाल-श्रीफल से सम्मान किया।

तालाबों पर अतिक्रमण
अमरकंटक में गायत्री और सावित्री तालाबों पर अतिक्रमण देखकर मुख्यमंत्री ने गायत्री एवं सावित्री तालाबों सहित अमरकंटक क्षेत्र के अन्य तालाबों को अतिक्रमण मुक्त करने के निर्देश अनूनपपुर कलेक्टर को दिए। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि अमरकंटक क्षेत्र के सभी तालाबों को अतिक्रमण मुक्त कर स्वच्छ तथा सुंदर बनाया जाए। उन्होंने तालाबों का गहरीकरण करने के भी निर्देश दिए।

 

151901353_1945546648927260_4734379502517169782_n.png

अवैध होटलों पर नजर
मुख्यमंत्री ने अमरकंटक नगर में अवैध रूप से बनाए गए होटलों की जानकारी भी कलेक्टर से तलब की। नर्मदा नदी के उदगम स्थल में गाद भरने से गहरीई कम हो गई है इस निकालने के लिये सीएम ने मानसून से पहले ही सफाई करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि नर्मदा नदी का उदगम स्थल स्वच्छ और सुंदर हो और यहाँ जल-स्रोतों का प्रस्फुटन होना चाहिए।
अमरकंटक क्षेत्र में हरियाली को बढ़ावा देने के लिये वृहद पौध-रोपण अभियान चलाया जाएगा और पौध-रोपण में साल के वृक्षों को प्राथमिकता दी जाएगी। इस इलाके में साल के वन आच्छादित हैं।

कार्यक्रम में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह, सांसद शहडोल हिमाद्री सिंह, कलेक्टर चन्द्रमोहन ठाकुर सहित जनप्रतिनिधि एवं स्थानीय नागरिक मौजूद थे।

Show More
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned