गांव की सफाई और प्लास्टिक से मुक्ति के लिए करेंगे काम

जन्मभूमि को स्वच्छ बनाने 70 घंटे देने का लिया संकल्प

अनूपपुर। पत्रिका के स्वर्णिम भारत अभियान के तहत स्किल वे पब्लिक हायर सेकेंडरी स्कूल वेंकटनगर के शिक्षकों और बच्चों ने स्वच्छता को लेकर जन्मभूमि को स्वच्छ और सुंदर बनाने संकल्प लिया। जिसमें गांव की सफाई और प्लास्टिक से मुक्ति के लिए काम करने की बात कही है। स्कूल की प्राचार्य पूजा चतुर्वेदी ने पत्रिका स्वच्छता अभियान की सराहना करते हुए इसे समाज में जागरूकता के साथ समाज की प्राथमिकताओं में शामिल बुनियादी जरूरत के कार्य बताया। शिक्षकों व बच्चों ने खुद के साथ दूसरे को भी प्रेरित करने और जन्मभूमि की सफाई में ७० घंटे देने का संकल्प लिया है। शिक्षकों व बच्चों ने प्रतिदिन लगभग ११ मिनट जन्मभूमि की सेवा के लिए अपना श्रमदान करने की बात कही। उन्होंने कहा वर्तमान में पन्नी और प्लास्टिक से बनी सामग्री पर्यावरण को प्रभावित करने वाली सबसे बड़ी कारक है। इसके लिए लोगों से कम से कम उपयोग करने तथा प्रतिबंधित पन्नी के इस्तेमाल पर ना कहने के लिए प्रेरित करेंगे। १४ फरवरी को वेंकटनगर स्किल वे हायर सेकेंडरी स्कूल के छात्रों के साथ शिक्षक शिक्षिकाओं ने भी अपने देश को स्वच्छ रखने ७० घंटे समय देने का संकल्प लिया। जिसमें छात्रों व शिक्षकों ने वर्ष २०२० के दौरान लगभग सालभर अपनी जन्मभूमि के लिए ७० घंटे का समय देकर स्वच्छ वातावरण बनाने का प्रयास करने की बात कही है। शिक्षकों द्वारा छात्रो को खुद के आसपास के वातावरण को साफ रखने कुछ समय निकालने की अपील की गई। शिक्षकों ने ग्रामीण क्षेत्रों में निवासरत ग्रामीणों में भी यह जागरूकता लाने अपना संकल्प दोहराया है। शपथ विद्यालय की प्राचार्य पूजा चतुर्वेदी के मार्गदर्शन में शिक्षिका शिखा शुक्ला ने दिलाई। शपथ के दौरान स्कूल के अन्य शिक्षकों में अनुज शुक्ला, आरके गौतम, अलका गुप्ता, सुरूचि गुप्ता, अनिल यादव , मनोज यादव सहित अन्य स्टाफ मौजूद रहे।
----------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned