तीन दिन में 36 पॉजिटिव और एक मौत, प्रमुख सचिव बोले-संक्रमण पर बरतें सख्ती

कोरोना का कहर: वैक्सीन लगने के 22 दिन बाद वृद्ध कोरोना पॉजिटिव, इलाज के दौरान तोड़ा दम

By: Manoj vishwakarma

Published: 03 Apr 2021, 11:42 PM IST

अशोकनगर. कोरोना वायरस का संक्रमण जिले में बेकाबू होता नजर आ रहा है, जहां तीन दिन में 36 पॉजिटिव मरीज मिले और कोरोना से एक की मौत हो गई। संक्रमण बढ़ता देख प्रमुख सचिव ने नियमों का पालन कराने सख्ती से कार्रवाई करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि मुझे बार-बार जिले के चक्कर न लगाना पड़ें इसलिए कोरोना को कंट्रोल करें और बोले कि यदि अगली बार आया तो 15 दिन यहीं बैठकर काम कराऊंगा।

संस्कृति, पर्यटन एवं जनसंपर्क विभाग के प्रमुख सचिव व कोविड-19 के जिला प्रभारी शिवशेखर शुक्ला ने शनिवार को जिले में पहुंचकर कोरोना संक्रमण व व्यवस्थाओं की समीक्षा की। साथ ही कोरोना संक्रमण रोकने अधिकारियों को सख्ती बरतने के निर्देश दिए और कहा कि लोगों की लापरवाही रोकने सख्ती से पेश आएं, किसी के भले के लिए सख्ती बरतना बुरा नहीं है, मुझे कोरोना बढ़ता नहीं दिखना चाहिए, इसलिए सख्ती से कायदे कानून लागू किए जाएं। साथ ही सेंपलों व पॉजिटिवों की जानकारी के साथ व्यवस्थाओं की जानकारी ली। बैठक में कलेक्टर अभय वर्मा, एसपी रघुवंशसिंह भदौरिया, जिपं सीईओ बीएस जाटव, सीएमएचओ डॉ.हिमांशु शर्मा, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.जेआर त्रिवेदिया, सभी एसडीएम, जनपद सीईओ, सीएमओ मौजूद रहे। साथ ही प्रमुख सचिव ने कलेक्टर व सीएमएचओ के साथ जिला अस्पताल पहुंचकर निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं की जानकारी ली और समस्याएं जानी व काम का तरीका देखा। साथ ही आईसोलेशन के कार्य व मरीजों की व्यवस्थाओं को भी देखा। प्रमुख सचिव ने पूछा कि यदि 300 पॉजिटिव मरीज एक साथ आ गए तो किस तरह से व्यवस्थाएं करोगे। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग ने डॉक्टरों व स्टाफ की कमी की भी समस्या बताई। वहीं होम आईसोलेट हो रहे मरीजों के बारे में भी जानकारी ली और टीकाकरण की जानकारी, इस दौरान स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना वैक्सीन खत्म हो जाने की बात कही।

कोरोना विस्फोट: एक दिन में 23 पॉजिटिव व एक की मौत

जिले में फिर से कोरोना विस्फोट हुआ है, जहां पर एक दिन में 23 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। वहीं 80 वर्षीय नरेंद्र जैन को सांस लेने में तकलीफ होने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, रात में एंटीजन कार्ड से हुई जांच में वह पॉजिटिव निकले और सुबह इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि नरेंद्र जैन को 10 मार्च को वैक्सीन का पहला डोज लग चुका था और वैक्सीन लगने के 22 दिन बाद वह फिर कोरोना पॉजिटिव हो गए। वहीं शाम को ग्वालियर से आई रिपोर्ट में 12 पॉजिटिव मिले, जिनमें 8 शहर में, दो बहादुरपुर, दो शाढ़ौरा व एक मुंगावली में पॉजिटिव मिला। वहीं एंटीजन कार्ड से जांच में शाढ़ौरा में 11 पॉजिटिव मिले, जिनमें खडिय़ा मोहल्ला के दो परिवारों के आठ लोग व गांवों के तीन लोग संक्रमित मिले।

ये बोले जिम्मेदार

नरेंद्र जैन एंटीजन से हुई जांच में पॉजिटिव निकले, लेकिन आरटी-पीसीआर रिपोर्ट ही कन्फर्मेटिव होती है। जिन्हें हार्ट समस्या, बीपी व शुगर भी थी, इलाज के दौरान मौत हो गई, कोरोना से मौत नहीं कहेंगे।

डॉ.एसएस छारी, सिविल सर्जन जिला अस्पताल अशोकनगर

Manoj vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned