SC/ST एक्ट के विरोध में ट्रेन रोककर पटरी पर बैठे युवा, ट्रेनों का आवागमन ठप!

SC/ST एक्ट के विरोध में ट्रेन रोककर पटरी पर बैठे युवा, ट्रेनों का आवागमन ठप!

KRISHNAKANT SHUKLA | Publish: Sep, 06 2018 02:08:07 PM (IST) | Updated: Sep, 06 2018 05:05:13 PM (IST) Ashoknagar, Madhya Pradesh, India

SC/ST एक्ट के विरोध में ट्रेन रोककर पटरी पर बैठे युवा, ट्रेनों का आवागमन ठप!

अशोकनगर। एसएसी एक्ट को लेकर भारत बंद का असर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से लेकर अशोकनगर में भी देखा जा रहा है। अशोकनगर के कई इलाकों में विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। बंद समर्थकों और पुलिस प्रशासन के बीच मामूली झड़प की खबरें हैं।

इधर, विरोध में अशोकनगर के वासी सब्जी और दूध तक के लिए तरस गए। पेट्रोल पंप बंद होने के कारण लोगों ने घर से अपनी गाड़ियां तक नहीं निकाली। इस दौरान कुछ लोगों ने विरोध प्रदर्शन भी किया। एससी एसटी एक्ट के विरोध में साढौरा में स्टेशन पहुंचकर दोनों ओर की ट्रेन रोककर पटरी पर प्रदर्शनकारी खड़े हो गए। विरोध में अशोकनगर स्टेशन पर ही प्रदर्शन सभा का अयोजन किया गया। जिसके चलते पिछले एक घंटे से ट्रोनों का आवागमन बंद है।

नारेबाजी कर किया विरोध
गुरुवार सुबह करीब सवा 11 बजे आसपास के 30 गांवों के करीब ढाई हजार ग्रामीण जिले की शाढौरा स्टेशन पहुंचे और रेलवे पटरी पर बैठकर नारेबाजी करने लगे। जानकारी मिलते ही रेलवे ने ट्रेनों को एक स्टेशन पहले ही रुकवा दिया। ग्रामीण बाजार बंद के समर्थन में रेलवे पटरी पर बैठे हुए हैं और

वह प्रशासन व रेलवे अधिकारियों की समझाइश के बाद भी ग्रामीण रेलवे ट्रैक से हटने के लिए तैयार नहीं हैं। साथ ही ग्रामीण लगातार नारेबाजी कर एक्ट में किए गए संशोधन का विरोध जता रहे हैं। जानकारी मिलते ही एडीशनल एसपी करीब 250 पुलिस जवानों के साथ मौके पर पहुंच गए हैं।

bharat-bandh

पुलिस और ग्रामीणों में विवाद की आशंका
रेलवे ट्रैक से न हटने पर अब पुलिस और ग्रामीणों में विवाद की आशंका बन गई है। पुलिस ने अश्रु गैस के गोलों और लाठियों के साथ मोर्चा संभाल लिया है , वहीं ग्रामीणों ने भी पुलिस की सख्ती को देखते हुए हाथों में रेलवे ट्रैक के गिट्टी-पत्थर उठा लिए हैं। यदि पुलिस ने सख्ती से हटाने का प्रयास किया तो गुस्साए ग्रामीण भी पुलिस पर हमला कर सकते हैं। इससे स्टेशन पर अब बढ़े उपद्रव की आशंका दिख रही है।

51 जिलों में पुलिस बल तैनात
मध्यप्रदेश के पुलिस महानिरीक्षक मकरंद देउस्कर ने बताया कि भारत बंद के चलते प्रदेश के 51 जिलों में पुलिस बस तैनात कर दिए गए है। सोशल मीडिया पर भी खास नजर रखी जा रही है। एससी-एसटी एट्रोसिटी एक्ट के विरोध में जहाँ जिले के सभी बाजार पूरी तरह से बंद है और लोगों को सब्जी, दूध, चाय, गुटखा के लिए भी तरसना पड़ रहा है। वहीं गुस्साए ग्रामीणों ने भी बंद के समर्थन में रेलवे ट्रैक रोक दिया है। इससे लगातार दो घंटे से ट्रैक पर ट्रेनों की आवाजाही बंद है। वहीं ग्रामीणों को हटाने पहुंचे पुलिस जवानों और ग्रामीणों के बीच विवाद की आशंका है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned