कांग्रेस नेता ने घर में घुसकर भाजपा पोलिंग एजेंटों से की मारपीट, पुलिस ने रिपोर्ट तक नहीं लिखी

कांग्रेस नेता ने घर में घुसकर भाजपा पोलिंग एजेंटों से की मारपीट, पुलिस ने रिपोर्ट तक नहीं लिखी

गांव के एक सैंकड़ा लोगों ने एसपी से की शिकायत, कहा पुलिस कह रही कांग्रेस नेता का नाम हटाओ तो दर्ज करें एफआईआर।

अशोकनगर. जिले में अब लोकसभा चुनाव की रंजिशों के विवाद शुरू हो गए हैं और आए दिन मारपीट के मामले सामने आ रहे हैं। एसपी ऑफिस पहुंचकर करीब एक सैंकड़ा ग्रामीणों ने शिकायत की कि कांग्रेस नेता ने उसके चार साथियों के साथ घर में घुसकर भाजपा के दो पोलिंग एजेंटों से जमकर मारपीट की, लेकिन पुलिस ने उनकी रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की। साथ ही ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पुलिस कह रही है कि कांग्रेस नेता का नाम शिकायत से हटाओ तक प्रकरण दर्ज किया जाएगा। इस पर एसपी ने एसडीओपी से मामले की जांच कराने की बात कही है।


मामला क्षेत्र के कदवाया गांव का है। ग्रामीणों ने शिकायत की है कि गांव के प्राणसिंह पुत्र मुन्नाराम कुशवाह और मणिराम पुत्र बुद्धिसिंह ओझा मतदान के दिन भाजपा के पोलिंग एजेंट बने थे। 15 मई की रात प्राणसिंह कुशवाह गांव में मणिराम ओझा के घर पर खाना खा रहा था।

तभी चुनावी रंजिश पर कांग्रेस नेता व कदवाया के उपसरपंच अशोक पुत्र महेंद्र शर्मा, रूपेश कुशवाह पुत्र करनसिंह, हरिओम पुत्र तुलाराम ओझा, देवेंद्र पुत्र मन्नू केवट और राजू पुत्र रामचरण जाटव ने मणिराम ओझा के घर में घुसकर मणिराम और प्राणसिंह की मारपीट की और जब मणिराम की पत्नी रश्मि बचाने पहुंची तो उसे भी धक्का दे दिया।

इस घटना में मणिराम के सिर में चोट आई है और छुरी जैसे हथियार से हमला करने का आरोप अशोक शर्मा पर लगा रहा है। मणिराम और प्राणसिंह का आरोप है कि जब वह रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंचे तो पुलिस ने पहले दिन तो कंप्यूटर खराब होना बताया और फिर कांग्रेस नेता अशोक शर्मा का शिकायत से नाम हटाने की बात कही।

शनिवार को जब ग्रामीण एकत्रित होकर पहुंचे तो भाजपा प्रत्याशी डॉ.केपी यादव, जयकुमार सिंघई, नीरज सोनी और अनिल रघुवंशी सहित कई भाजपा नेता भी एसपी ऑफिस पहुंचे और एसपी पंकज कुमावत से प्रकरण दर्ज कराने की मांग की।

कांग्रेस नेता ने कहा झूठा है आरोप-
कांग्रेस नेता अशोक शर्मा का कहना है कि पंचायत चुनाव के दौरान प्राणसिंह कुशवाह ने 16 लोगों के साथ मिलकर हमारे घर पर हमला कर दिया था। जिससे इन पर प्रकरण दर्ज है और वह उस प्रकरण में राजीनामा करने का दबाव बनाने के लिए यह झूठा आरोप लगा रहे हैं। अशोक शर्मा का कहना है कि उनके द्वारा कोई भी विवाद नहीं किया गया और यह झूठी शिकायतें कर रहे हैं।


यहाँ , कांग्रेस नेता का आरोप फोन पर मिली जान से मारने की धमकी
अशोकनगर. कांग्रेस के प्रदेश महासचिव रामचरण तामरे ने शिकायत की है कि एक अज्ञात नंबर से उन्हें जान से मारने की धमकी मिली है, लेकिन शिकायत के बाद पुलिस उसका कोई पता नहीं कर पाई है। इससे शनिवार को रामचरण तामरे ने मामले की शिकायत एसपी से की है।


कांग्रेस नेता रामचरण तामरे का कहना है कि 13 मई को करीब पौने तीन बजे एक अज्ञात नंबर से उनके मोबाइल पर फोने आया और फोन करने वाले ने पहले तो सीधे ही धमकी दी कि तू नर्सरी में आ जा, तेरी गर्दन काटकर टांग देंगे। जब यह पूछा कि किस नर्सरी में आना है और कोन बोल रहा है, तो फोन करने वाले ने कहा कि मैं भोला बोल रहा हूं, साथ ही कांग्रेस नेता को अश्लील गालियां दीं।

इससे कांग्रेस नेता भयभीत है और उन्होंने पुलिस थाने में मामले की शिकायत की व गृहमंत्री बाला बच्चन से भी शिकायत की है, लेकिन जब धमकी देने वाले की कोई जानकारी पुलिस नहीं लगा सकी तो रामचरण तामरे ने एसपी से मामले की शिकायत की और कार्रवाई की मांग की है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned