पाइप लाइन डालने 8 माह पहले खोदी सड़क न बनने से शहरवासी परेशान


-सड़क की उड़ती धूल से श्वांस दमा की बढ़ रही बीमारियां, गिट्टी व गडढों से वाहन चालक परेशान।

By: Arvind jain

Published: 15 Nov 2018, 07:53 AM IST

अशोकनगर/मुंगावली. नगर की सड़क खुदाई के बाद बारिश के मौसम निकल गया लेकिन सड़कों की मरम्मत नहीं कराई गई। जिससे सड़कों पर जमा मिट्टी अब धूल बनकर उड़ रही है जो दुकानदारों व लोगों के लिये मुसीबत बन रही है। उड़ रही धूल से लोगों को श्वांस सम्बन्धी बीमारी हो रही है जिसमे उन्हें सर्दी जुकाम के साथ कफ , सांस लेने में तकलीफ आदि बीमारियों से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

उल्लेखनीय है कि महीनों पहले सड़क की खुदाई कर दी गई लेकिन सड़क नहीं डाली है। पाइप लाइन बिछाने के लिए खोदी गई नालियों को मिट्टी से पाट दिया गया है। जो अब धूल बन कर उड़ रही है। वही कई जगह सड़कों की गिट्टी उखड़ी पड़ी है। जिससे लोगों को आने-जाने में खासी परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। जिससे कोई भी वाहन वहां से निकलता है तो वह सीधे नालियों में ही धंस जाता है और लोग हादसों का शिकार हो रहे हैं।

8 माह से चल रहा पाइप लाइन बिछाने का काम
शहर के १५ वार्डो में 2 करोड़ 80 लाख की लागत सेें पाइप लाइन बिछाने का काम आठ माह पहले शुरू हुआ था। जिसके तहत मुख्य बाजार से लेकर शहर की अंदरूनी गलियों में जेसीबी से पेवर्स व सीसी सड़कों खोदी गईं। पाइप लाइन बिछाने के बाद इन सड़कों को मिट्टी से भर दिया गया है, लेकिन अब यह सड़कें लोगों के लिए मुसीबत बन रहीं हैं।

कई क्षेत्रों में तो सड़कों की हालत इतनी खराब है कि लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा है। जब शहर के कई क्षेत्रों का जायजा लिया। नया बाजार, पुराना बाजार, माता मोहल्ला, जैन मंदिर गली, भैयालाल गली हकीम गली, कुशवाह कालोनी, जैसे अन्य गलियों में खोदी गई पेवर्स सीसी सड़क पर अब केवल मिट्टी ही नजर आ रही है। स्थानीय निवासी एवं दुकानदारों ने बताया कि खुदाई करने के बाद पाइप डालकर उपर से नाली से निकली मिट्टी को डाल दिया गया था।

जिससे बारिश में पूरी सड़क पर कीचड़ फैल गया था। इसी तरह शहर के मुख्य बाजार, गणेश मार्ग, आदर्श कालोनी मातापुरा रोड, जैसी कई जगहों पर मे जेसीबी से सीसी सड़क खोदी गई थी, लेकिन उसमें आज तक मरम्मत नही कराई गई। रात के समय वाहन चालक गिट्टी के कारण हादसों का शिकार हो रहे हैं। दुकानदार राजेश जैन, मनीष जैन, आशीष सोनी ने बताया कि जल आवर्धन योजना का काम कर रहे ठेकेदार के कर्मचारी सड़कों के बीच से खुदाई कर पाइप लाइन डाल रहे हैं। खुदाई के बाद मरम्मत न करते हुए नाली को मिट्टी से भर गए थे जो अब धूल बनकर उड़ रही है।


शहर में अब तक 13 किमी लाइन डाली
शहर में 33 किमी की नई डिस्ट्रीब्यूशन लाइन बिछाई जाना है। जिसका काम करीब 8 माह पहले शुरू हुआ था जिसमें से अब तक कई जगह लाइन बिछाई जा चुकी है। अभी भी कई वार्डो में लाइन डाली जाना शेष है। उसके बाद घरों में कनेक्शन दिए जाएंगें।

लेकिन ठेकेदार के द्वारा काम धीमी गति किये जाने के कारण लोगो को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नल कनेक्शन के लिए टेंडर की प्रक्रिया 3 माह पहले पूरी हो गई थी। उसके बाद टेंडर भोपाल से स्वीकृत होना थे। लेकिन 3 माह गुजरने के बाद भी नल कनेक्शन शुरू नही हो सके।

टेंडर की स्वीकृति हो चुकी है ठेकेदार को वर्क आर्डर भी दे दिया गया है। पाइप लाइन की टेस्टिंग होना है, जो कि आचार सहिंता खत्म होने के बाद होगी, उसके बाद नल कनेक्शन शुरू होंगे। जिसके बाद सड़को की मरम्मत की जाएगी।
कुलदीप नरवरिया उपयंत्री नगर परिषद मुंगावली

Arvind jain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned