गंदा पानी हो रहा सप्लाई लोग बोले-छानने के बाद यही पीने को मजबूर

पेयजल: पानी शुद्ध करने रोज हजारों खर्च

By: Manoj vishwakarma

Published: 04 Apr 2019, 03:03 AM IST

अशोकनगर. तालाब से आने वाले पानी को साफ करने नपा भले ही फिल्टर प्लांट पर रोजाना हजारों रुपए खर्च कर रहा हो, फिर भी शहर में गंदा और बदबूदार पानी सप्लाई हो रहा है। लंबे समय से जारी इस समस्या की कई बार शिकायतों के बाद भी हालत नहीं सुधरी, तो मजबूरी में अब लोग उसी पानी को पीने के लिए मजबूर हैं। हालत यह है कि पानी भरने के बाद लोग उसे छानते हैं और एक घंटे में गंदगी नीचे जम जाने के बाद फिर वह साफ पानी को अलग बर्तन में भरते हैं।

 

शहर की बोहरे कॉलोनी, आजाद मोहल्ला, विदिशा रोड, पाराशर मोहल्ला सहित शहर के कई मोहल्लों में लंबे समय से नलों के माध्यम से गंदा पानी आता है। रहवासियों का कहना है कि नल आते ही कुछ मिनिट तो कीचड़ की तरह पानी आता है और इसके बाद ही लोग पानी भरा जाता है। शहरवासियों का कहना है कि पानी इतना गंदा रहता है कि पीने की बात तो दूर उस पानी को नहाने में भी इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं। कॉलोनी के सौरभ सेन, आशीष श्रीवास्तव और छाया बैस का कहना है कि लंबे समय से लगातार इसी तरह से गंदा और बदबूदार पानी आ रहा है। लेकिन कई बार शिकायतों के बावजूद भी समस्या का सुधार नहीं हुआ। उनका कहना है कि आखिर कब तक उन्हें इसी तरह से गंदा पानी पीना पड़ेगा।

पेयजल सप्लाई का समय बढ़ाने की मांग

शहरवासियों का कहना है कि ज्यादातर मोहल्लों में शुरुआत में नलों से कीचड़ जैसा पानी आता है, इसलिए पहले तो उस कीचड़ जैसे पानी को बहाना पड़ता है और इसके बाद ही पानी भर पाते हैं। इससे लोगों को पर्याप्त पानी नहीं मिल पाता है। शहरवासियों की मांग है कि नपा को पेयजल सप्लाई का समय बढ़ाना चाहिए ताकि सभी को पर्याप्त पानी मिल सके।

इधर, माताओं के साथ बच्चे भी हुए जागरुकता रैली में शामिल

अशोकनगर. लोकसभा चुनाव में मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए निर्वाचन आयोग के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न जागरुकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। स्वीप गतिविधियों के महिला एवं बाल विकास विभाग ने साईकिल रैली निकाली। बुधवार को पॉलीटेक्निक कॉलेज से शुरू हुई यह साईकिल रैली शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए सुभाषगंज पहुंची। जहां पर सभी शहरवासियों को मतदान में सहभागी बनने का संदेश दिया गया। साथ ही मतदान करने की शपथ भी दिलाई गई। इस साईकिल रैली में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिकाओं सहित अन्य महिलाएं भी शामिल हुई। वहीं छोटे-छोटे बच्चे भी अपनी माताओं के साथ शामिल होकर मतदान का संदेश देते नजर आए।

Manoj vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned