खाताधारक को बिना बताए फर्जी तरीके से ट्रांसफर किए शेयर, धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज

शेयरों की धोखाधड़ी का मामला,
- आदित्य बिरला कंपनी इंदौर के मैनेजर ने अपनी पत्नी के खाते में ट्रांसफर किए करीब पांच रुपए लाख के शेयर।

अशोकनगर. खाताधारक को जानकारी दिए बिना ही आदित्य बिरला कंपनी इंदौर के मैनेजर ने फर्जी तरीके से शेयर खुद की पत्नी के खाते में ट्रांसफर कर लिए। करीब पांच लाख रुपए के शेयर ट्रांसफर होकर बिकने की सूचना खाताधारक को मिली, तो उसने पुलिस थाने मे शिकायत की। इस पर पुलिस ने इंदौर के एजेंट और एजेंट की पत्नी के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर लिया है।


शहर के विपिनकुमार जैन ने थाने में शिकायत की कि उन्होंने वर्ष 2006 में इंडियाबुल्स लिमिटेड कंपनी में डीमेट एकाउंट खोला था। इंदौर निवासी धमेंद्र जायसवाल अरिहंत केपीटल मार्केट लिमिटेड इंदौर का एजेंट था, शहर में आना जाना होने से विपिन की उससे पहचान हो गई थी। विपिन जैन का कहना है कि वर्तमान में धमेंद्र जायसवाल आदित्य बिरला कंपनी के इंदौर कार्यालय में मैनेजर पद पर कार्यरत है। जिसने कूटरचित दस्तावेजों से विपिन जैन के डीमेट एकाउंट से शेयर खुद की पत्नी रुचि जायसवाल के खाते में ट्रांसफर कर लिए। वहीं कंपनी ने भी उसे शेयर ट्रांसफर होने की सूचना तक नहीं दी। विपिन जैन का कहना है कि कंपनियों से समय-समय पर प्राप्त अन्य लाभ जैसे बोनस एवं स्पिलिट शेयर एवं डिविन्डेंट सहित शेयर की अनुमानित कीमत पांच लाख रुपए है। शिकायत पर पुलिस ने धमेंद्र जायसवाल और रुचि जायसवाल के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर लिया है।


धोखाधड़ी कर शेयर ट्रांसफर कर लिए थे
खास बात यह है कि धर्मेंद्र जायसवाल ने विपिनकुमार जैन की के डीमेट एकाउंट में भी इसी तरह से धोखाधड़ी कर शेयर ट्रांसफर कर लिए थे। जिस पर उन्होंने थाने में प्रकरण दर्ज कराया था। कोतवाली प्रभारी पीपी मुदगल का कहना है कि पूर्व में अशोकनगर में धमेंद्र जायसवाल, पत्नी रुचि जायसवाल और कंपनी के खिलाफ प्रकरण दर्ज हुआ था और उस मामले में धमेंद्र जायसवाल जेल में है।

Show More
Arvind jain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned