अब मंडी में प्यासा नहीं रहेगा किसान

नई टंकी को भरवाने के साथ ही पार्क के चारों ओर लग रहीे टोंटियां

By: Jagdeesh Ransurma

Published: 03 Apr 2016, 11:08 PM IST


अशोकनगर. कृषि उपज मंडी में अब किसानों को पानी के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। मंडी प्रशासन ने किसानों की सुध लेते हुए उनकी प्यास बुझाने के इंतजाम करने शुरू कर दिए हैं। अब स्थाई प्याऊओं के अलावा चार अस्थाई प्याऊ व छह ठेले भी किसानों की प्यास बुझाने के लिए तैयार रहेंगे। उल्लेखनीय हैकि लंबे समय से मंडी में पीने के पानी की समस्या बनी हुईहै।परिसर के सारे हेंडपंप खराब हैं और पुराने टंकी जर्जर होने के कारण बंद कर दी गईहै।जिसके कारण किसानों को दो बूंद पानी के लिए भटकना पड़ता है।

पत्रिका की खबर के बाद चेता प्रशासन
पत्रिका द्वारा कृषि उपज मंडी में पेयजल समस्या को लेकर पत्रिका ने खबरों का प्रकाशन किया था।जिसके बाद मंडी प्रशासन चेता और अब मंडी परिसर में किसानों को भरपूर मात्रा में पेयजल उपलब्ध हो सकेगा। इसके लिए मंडी प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। रविवार को दिन भर काम चलता रहा। मंडी स्थित पार्क के चारों ओर पाइप लगाकर उनमें टोटियां फिट की गईहैं। मंडी डायरेक्टर शीतल सत्येन्द्र कलावत ने बताया कि पार्क के चारों ओर 40 टोटियां चारों ओर लगवाई गई हैं।

 इन टोटियों में 50 हजार लीटर की नवीन टंकी से पानी की सप्लाईकी जाएगी। टंकी को भरने के लिए टेंकरों से पानी बुलवाया जाएगा।पांच हजार लीटर क्षमता के दस टेंकरों से टंकी को भरवाया जाएगा।टंकी से टोटियों में पानी पहुंचाने के लिए पाइप लाइन भी डाली गई है। इसके अलावा पुराने स्थाई प्याऊओं को भी भरवाया जाएगा।

Jagdeesh Ransurma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned