पहले ट्राली पास की, फिर खरीदने से किया मना

पहले ट्राली पास की, फिर खरीदने से किया मना
Ashoknagar, Markfed, support price, urad purchase,

praveen praveen | Publish: Jun, 24 2017 11:49:00 PM (IST) ashoknagar

अशोकनगर. जिले में शनिवार से मार्कफेड द्वारा समर्थन मूल्य पर उड़द की खरीदी शुरू हो गई है। लेकिन पहले दिन ही किसानों व संस्था के बीच विवाद हो गया।

अशोकनगर. जिले में शनिवार से मार्कफेड द्वारा समर्थन मूल्य पर उड़द की खरीदी शुरू हो गई है। लेकिन पहले दिन ही किसानों व संस्था के बीच विवाद हो गया। संस्था ने पहले तो पांच ट्राली उपज को पास किया और फिर लेने से मना कर दिया। किसानों के हंगामा करने पर पुलिस भी बुलाई गई।

उल्लेखनीय है कि मार्कफेड द्वारा उड़द की खरीदी के लिए किसानों को फोन लगाकर बुलाया जा रहा है। शनिवार को 50 किसानों को बुलाया गया था, इसमें से 25.-30 किसान अपनी उपज लेकर पहुंचे। उपज को जांचने के बाद पांच ट्राली पास की गईं। लेकिन फिर उनकी तौल करने से मना कर दिया गया। पूछने पर बताया कि कंपनी ने मना किया है।  किसानों को पटवारी का प्रमाणीकरण देना होगा कि उन्होंने  उड़द बोई थी या नहीं।एक दिन पहले कंपनी के सर्वेयर ने मंडी में सर्वे भी करवाया था। संस्था द्वारा ट्रालियों की तौल करवाने से मना करने पर किसान भड़क गए और  हंगामा शुरू कर दिया। इसके बाद संस्था द्वारा पुलिस को बुला लिया गया। यहां बात न बनने पर खरीदी बंद कर सभी कलेक्ट्रेट चले गए। जहां समझाइश के बाद 2 ट्रालियों की तौल करवाने के बाद खरीदी फिर बंद कर दी गई। हंगामे के बाद किसान व संस्था के लोग फिर कलेक्ट्रेट चले गए।

सुबह भी किया था किसानों ने हंगामा
इससे पहले सुबह नीलामी के समय भी किसानों ने हंगामा किया था। नीलामी के समय किसान भी तैयार थे और व्यापारी भी पहुंच गए थे। लेकिन मंडी निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम होने से मंडी के कर्मचारी न होने से खरीदी नहीं हुई। हंगामा करते हुए किसान मंडी कार्यालय पहुंचे तो उनसे दोपहर दो बजे खरीदी करने की बात कही गई।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned