देश का किसान परेशान, किसी ने अब तक नहीं सुनी फरियाद

देश का किसान परेशान, किसी ने अब तक नहीं सुनी फरियाद

KRISHNAKANT SHUKLA | Publish: Sep, 16 2018 11:51:24 AM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 11:51:25 AM (IST) Ashoknagar, Madhya Pradesh, India

former biggest problems - देश का किसान परेशान, किसी ने अब तक नहीं सुनी फरियाद

अशोकनगर. हिरणों की समस्या से परेशान किसानों ने मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री और कलेक्टर के नाम ज्ञापन देकर शिकायत की है कि तहसील क्षेत्र में करीब 25 हजार हिरण हैं, जो फसलों को चौपट कर रहे हैं। जहां से यह हिरणों का झुंड गुजरता है, उन खेतों की पूरी फसल बर्बाद हो जाती है। इससे किसान परेशान हैं। भारतीय किसान संघ के नेतृत्व में किसानों ने शनिवार को ज्ञापन दिया। जिसमें उन्होंने खरीफ फसलों के पंजीयन की अंतिम तारीख 20 से बढ़ाकर 30 सितंबर करने की मांग की है।

सर्वर डाउन और देरी की समस्या से किसानों के नहीं हो पा रहा पंजीयन

किसानों का कहना है कि सर्वर डाउन और देरी की समस्या से किसानों के पंजीयन नहीं हो पा रहे हैं और किसानों को पंजीयन के लिए परेशान होना पड़ रहा है। वहीं उन्होंने सिचाई के लिए राजघाट बांध से जिले में नहर निकाले जाने की मांग भी की है। वहीं राजस्व रिकॉर्ड में संसोधनों के बंद पड़े डाटा को भी तुरंत चालू कराने की मांग की है। वहीं किसान संघ ने यह भी शिकायत की है कि चना-मसूर खरीदी के बाद अब तक सैंकड़ों किसानों को भुगतान नहीं हुआ है और न हीं गेहूं व चना की बोनस राशि का भुगतान किसानों को हुआ है।

यहां निमोनिया से बीमार बच्चे अस्पाताल में लगी भीड़

इधर, निमोनिया पीडि़तों की संख्या ज्यादा- बदलते मौसम के साथ ही जिले में मलेरिया और वायरल के मरीजों की संख्या बढ़ गई है। इससे जहां अस्पताल रोजाना करीब 900 से ज्यादा मरीज पहुंच रहे हैं। जिसमें बच्चे भी मौसमी बीमारियों से पीडि़त पहुंच रहे हैं, इसमें सबसे ज्यादा संख्या निमोनिया के मरीजों की है। लेकिन ऐसी अव्यवस्थाओं के बीच उनके स्वास्थ्य की स्थिति का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है। लोगों का कहना है कि वार्डों में प्रशासन को पलंगों की संख्या बढ़वाना चाहिए। ताकि समस्या घट सके।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned