एससी-एसटी एट्रोसिटी एक्ट: देशभर में छाया रहा अशोकनगर जिले का विरोध

एससी-एसटी एट्रोसिटी एक्ट: देशभर में छाया रहा अशोकनगर जिले का विरोध

Arvind jain | Publish: Dec, 27 2018 09:48:14 AM (IST) Ashoknagar, Ashoknagar, Madhya Pradesh, India

अलविदा 2018 पास्ट फारवर्ड,543 युवाओं ने कराया था सामूहिक मुंडन, सांसदों की तेरहवी कर कराया था भोज...

अशोकनगर. एससी-एसटी एट्रोसिटी एक्ट के मामले में अशोकनगर जिला देशभर में छाया रहा। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के विरोध में दो अप्रैल को सैंकड़ों लोगों ने कलेक्ट्रेट भवन पर जमकर पथराव किया, तो वहीं केंद्र सरकार ने एट्रोसिटी एक्ट में संसोधन किया तो सवर्ण समाज ने जमकर विरोध किया। सांसदों की संख्या के हिसाब से 543 युवाओं ने शहर में एक साथ सामूहिक मुंडन कराया और सांसदों की काल्पनिक शव यात्रा निकाली। साथ ही तेरहवी का आयोजन कर दो हजार लोगों को भोज भी कराया। (14.09.18)

मुंगावली बनेगी मिनी स्मार्ट सिटी...
जिले के मुंगावली शहर को उपचुनाव के दौरान मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने मिनी स्मार्ट सिटी बनाने की घोषणा की। जिसमें सभी सड़कों और गलियों का निर्माण, टाकीज सहित आधुनिक बसस्टैंड पार्क और अंडरग्राउंड नालियां व बिजली लाइन को भी शामिल किया। दो दिन बाद ही सर्वे शुरू होकर 25 करोड़ रुपए निर्माण के लिए स्वीकृत भी कर दिए।

यादगार घटनाएं-
1. विरोध में ग्रामीण ने रोक दी ट्रेन-
एससी-एसटी एट्रोसिटी एक्ट में हुए संसोधन के विरोध में 30 गांव के करीब तीन हजार ग्रामीणों ने शाढ़ौरा स्टेशन पर पहुंचकर ट्रेनें रोक दीं। साथ ही पटरी पर ही बैठकर नारेबाजी करने लगे। आरपीएफ और सिविल पुलिस हटाने पहुंची तो ग्रामीण भी पथराव के लिए तैयार हो गए और तेज बारिश के बीच करीब साढ़े तीन घंटे तक ग्रामीण पटरी पर ही डटे रहे। (06.09.18)

2. रास्ता बंद हुआ तो रेल सुरक्षा आयुक्त की ट्रेन रोकी-
रेलवे पटरी पर बने अंडरपास में पानी भरने से चार गांव का रास्ता बंद हो गया तो गुस्साए ग्रामीणों ने रेल सुरक्षा आयुक्त की ट्रेन रोक दी और जब तक रेल सुरक्षा आयुक्त ने मौके पर पहुंचकर उनकी समस्या नहीं देखी तब तक ट्रेन नहीं चलने दी। (27.07.18)

फोटो क्विज-
आखिर क्यों रो पड़ा मंत्रिमंडल-
जबाव-
1. चुनाव में हार की वजह से रोने लगे।
2. मंत्रि पद जाने के बाद रोने लगे।
3. प्रत्याशी के भाषण के दौरान भावुक हुए।
4. प्रदेश में सरकार न बनने से रोए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned