मुख्यमंत्री के भाषण के दौरान बंद हुई एलइडी तो एक-दूसरे का मुंह तांकते दिखे अधिकारी, चालू हुई तो दिखने लगीं दूसरी खबरें

मुख्यमंत्री के भाषण के दौरान बंद हुई एलइडी तो एक-दूसरे का मुंह तांकते दिखे अधिकारी, चालू हुई तो दिखने लगीं दूसरी खबरें

Deepesh Tiwari | Publish: Jun, 14 2018 05:17:46 PM (IST) Ashoknagar, Madhya Pradesh, India

मुख्यमंत्री के भाषण के दौरान बंद हुई एलइडी तो एक-दूसरे का मुंह तांकते दिखे अधिकारी, चालू हुई तो दिखने लगीं दूसरी खबरें

अशोकनगर. कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के संबोधन के दौरान ही एलइडी बंद हो गई, तो कार्यक्रम में सन्नाटा छा गया। वहीं अधिकारी भी एक-दूसरे का मुंह ताकते नजर आए। वहीं कार्यक्रम खत्म होने के बाद जनपद अध्यक्ष चंदा यादव ने कार्यक्रमों में उनकी अवहेलना करने का आरोप लगाया और कहा कि किसी भी कार्यक्रम की उन्हें सूचना भी नहीं दी जाती है।
बुधवार को नेहरू डिग्री कॉलेज में मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना के तहत हितलाभ वितरण कार्यक्रम हुआ। कार्यक्रम में जपं अशोकनगर क्षेत्र के 129 हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं के 21 लाख 12 हजार रुपए की राशि का वितरण किया गया। कार्यक्रम में विधायक गोपीलाल जाटव, जिपं अध्यक्ष बाईसाहब यादव, जनपद अध्यक्ष चंदा यादव, कलेक्टर डॉ.मंजू शर्मा मौजूद थीं।

खाना के लिए डेढ़ किमी दूर पहुंचे हितग्राही
कार्यक्रम में खाना पैकेटों की कमी लोगों की बड़ी समस्या बनी। सुबह से आए कई लोगों को दोपहर तक खाना नहीं मिला। करीब ढाई बजे दो ऑटो से खाना के पैकेट आए तो धक्का-मुक्की शुरू हो गई। इससे करीब एक सैकड़ा लोगों को खाना नहीं मिल पाया। इन्हें कर्मचारियों ने जनपद कार्यालय में खाने की पैकेट मिलने की बात कही, तो महिलाएं और ग्रामीण तेज धूप में डेढ़ किमी दूर जनपद कार्यालय पहुंचे। जहां पर खाना बनाने वाले हलवाई ने मना कर दिया। इससे उन्हें बिना खाना पैकेट वापस लौटना पड़ा।

सीएम का कार्यक्रम था इसलिए पहुंची
जनपद अध्यक्ष चंदा यादव ने पत्रकारों से चर्चा कर आरोप लगाया कि महिला होने की वजह से हर कार्यक्रम में उनकी अनदेखी की जाती है। इस कार्यक्रम में भी उनका नाम विधायक के नाम के ऊपर लिख दिया गया, जो कि प्रोटोकॉल का उल्लंघन है। उनका आरोप है कि जिला पंचायत सीईओ के निर्देश पर यह अनदेखी की जा रही है। क्योंकि जिला पंचायत में होने वाले जनपद के अन्य कार्यक्रमों में भी उन्हें नहीं बुलाया जाता है। जनपद के हितग्राहियों को योजनाओं के प्रमाण पत्र वितरण की भी सूचना उन्हें नहीं दी जाती है। उन्होंने कहा कि यह तो मुख्यमंत्री का कार्यक्रम था, वह कार्यक्रम में सिर्फ इसीलिए गईं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned