20 दिन में सातवी बार पारा 41 पार, धूप ऐसी कि पिघलने लगा सड़कों का डामर

20 दिन में सातवी बार पारा 41 पार, धूप ऐसी कि पिघलने लगा सड़कों का डामर

Arvind jain | Publish: May, 21 2019 01:27:10 PM (IST) Ashoknagar, Ashoknagar, Madhya Pradesh, India

हवा का चक्रवात खत्म होते ही अब फिर से राजस्थान से गर्म हवाएं आने का दौर शुरू हो गया है।

अशोकनगर. हवा का चक्रवात खत्म होते ही अब फिर से राजस्थान से गर्म हवाएं आने का दौर शुरू हो गया है। इससे मई के 20 दिन में पारा सातवी बार 41 पार पहुंच गया है। इससे पूरा क्षेत्र फिर से तपने लगा है और तपन भी ऐसी कि सड़कों पर डामर धूप से ही पिघलता हुआ नजर आया और पिघलते डामरों पर वाहनों के पहियों के निशान बन गए।


सोमवार को दिन का अधिकतम तापमान पिछले 24 घंटे 2.2 डिग्री सेल्सियस बढ़कर 41.6 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। वहीं रात का न्यूनतम तापमान भी बढ़कर 24.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। सोमवार को सुबह से ही तेज धूप शुरू हो गई और दोपहर करीब साढ़े 12 बजे से गर्म हवाएं चलने लगीं। इससे लोग इन झुलसाती गर्म हवाओं से परेशान रहे। मौसम विभाग के मुताबिक हवा का चक्रवात और अन्य स्थितियां बनने से मौसम बदला था, लेकिन अब असर खत्म हो गया है और आने वाले दिनों में आसमान साफ रहेगा। साथ ही तापमान में बढ़ोत्तरी होने का अनुमान है।


20 दिन में 8 दिन 40 से नीचे रहा तापमान-
अप्रैल महीने के अंत में जहां अधिकतम तापमान 44.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था। लेकिन मौसम में बदलाव आने से मई माह के 20 दिन में जहां 12 दिन आसमान में बादल छाए और आठ दिन तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा। वहीं सात दिन ही तापमान 41 डिग्री सेल्सियस से ऊपर जा सका। मई महीने में सात मई को अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा, जो इस महीने का सबसे अधिक तापमान रहा तो वहीं 18 मई को अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री दर्ज किया गया जो इस महीने का सबसे कम अधिकतम तापमान रहा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned