अधिकारियों ने नहीं सुनी मिन्नतें पक्के निर्माणों पर चलवाई जेसीबी

अंबेडकर पार्क के पास मंगलवार सुबह अधिकारियों के साथ अचानक नपा का अमला पहुंचा और दुकानों को तोडऩे की कार्रवाई शुरू कर दी।

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Published: 24 May 2018, 09:09 AM IST

अशोकनगर. अंबेडकर पार्क के पास मंगलवार सुबह अधिकारियों के साथ अचानक नपा का अमला पहुंचा और दुकानों को तोडऩे की कार्रवाई शुरू कर दी। देखते ही देखते पक्की दुकानें मलबे में तब्दील हो गईं। लोगों ने अधिकारियों से मिन्नतें कीं और अपने कागज भी दिखाए, लेकिन कोई युक्ति काम नहीं आई। नपा की जेसीबी ने आधा दर्जन निर्माण ढहा दिए।

उल्लेखनीय है कि विदिशा रोड के चौड़ीकरण की कार्रवाई कई महीनों से रुकी हुई है। यहां लगभग एक महीने पहले पीडब्ल्यूडी द्वारा सेंटर लाइन भी डाल दी गई थी। इसके बाद दोनों ओर नौ-नौ मीटर जगह सड़क निर्माण के लिए चिंहित की गई है। इस दायरे में जो भी मकान, दुकान या अन्य निर्माण आ रहे हैं, उन्हें तोडऩे की कार्रवाई नपा द्वारा की जा रही है।

बुधवार को सुबह करीब १० बजे अतिरिक्त तहसीलदार अंजना पाटीदार, नायब तहसीलदार दीपेश धाकड़, नपा इंजीनियर एके नामदेव, सब इंजीनियर मनोज गुप्ता, पटवारी सहित नगरपालिका का अमला अंबेडकर पार्क पर पहुंचा। जहां लोग अपने कागज और गुहार लेकर उनके पास पहुंच गए। कुछ दुकानदारों ने अपनी दुकानें खाली करने के लिए दो घंटे का समय मांगा। अधिकारियों ने उन्हें समय दे दिया। इसके बाद इमली के पेड़ के नीचे स्थित नाश्ते की दुकान पर जेसीबी चला दी और लगभग आधी दुकान को ढहा दिया गया।

अपने हाथों से खोली शटर, हटाया सामान
लोगों ने पहले तो दुकानों में रखा सामान हटाया इसके बाद शटर व अन्य काम का सामान खोलने लगे, ताकि जेसीबी से तोड़-फोड़ होने पर अधिक नुकसान न हो। जितना सामान वे बचा सकते थे, उन्हें बचाया। भीषण गर्मी और गर्म हवाओं के बीच लोग आनन-फानन में सामान हटाते नजर आए। इसके बाद इन दुकानों को भी जेसीबी से तोड़ दिया गया।

सड़क पर लगा मलबे का ढेर
दुकानों को तोड़े जाने से धुले के गुबार उठे। यहां से निकलने वाले वाहन चालकों की आंखों में भी धूल भर गई। लोग अपनी नाक व मुंह रूमाल से छुपाते रहे। निर्माण तोडऩे के बाद जेसीबी ने मलबे को भरकर ट्रालों में डाला और सड़क को साफ किया।

55 लोगों को जारी किए थे नोटिस
सब इंजीनियर अरुण नामदेव ने बताया कि ९ मीटर के दायरे में आने वाले ५५ लोगों को नोटिस जारी किए गए थे। कुछ लोगों ने अपने अतिक्रमण खुद ही हटा लिए हैं। इसके बाद लगभग १५ दुकानें बीच में आ रही हैं, जो ज्यादा आएंगे उनको ही हटाया जाएगा। सड़क के साथ नाला निर्माण और पाइप लाइन डालने, खंभे खड़े करना और डिवाइडर बनाने का काम भी होना है। मौके की परिस्थति अनुसार काम किया जा रहा है।

Show More
KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned