आज मैं जमीन पर खड़ा हूं इसका अहसास है मुझे, मेरी चाहत है कि इस जमीन पर टिका रहूं : सिंधिया

- पांच कैबिनेट मंत्रियों के साथ शहर में पहुंचा सिंधिया का काफिला, जगह-जगह पुष्प बर्षाकर किया स्वागत, रंग विरंगी चुनरियों व गुब्बारों से सजाए रास्ते
- सिंधिया ने रोड शो करते हुए किया जनता का अभिवादन

अशोकनगर@अरविंद जैन की रिपोर्ट...

लोकसभा चुनाव के बाद दूसरी बार शहर में आए कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व क्षेत्र के पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का ऐतिहासिक स्वागत किया गया। वह मप्र शासन के पांच कैबिनेट मंत्रियों के काफिले के साथ रोड शो निकालते हुए शहर में पहुंचे। जहां सिंधिया के स्वागत के लिए शहर का हुजूम उमड़ पड़ा और कार्यकर्ताओं ने गर्मजोशी से उनका स्वागत किया।

शुक्रवार को पूर्व सांसद का करीब दोपहर 12 बजे शहर में प्रवेश हुआ। उन्होंने गाड़ी पर खड़े होकर करीब एक किमी लंबा रोड शो किया। वह जिन रास्तों से गुजरे उन रास्तों व चौराहों को कार्यकर्ताओं ने दुल्हन की तरह सजाया हुआ था। सारा शहर बैनर पोस्टरों रंगविरंगी चुनरियों व गुब्बारों से सजा हुआ था।

रेस्ट हाउस को भी सजाकर आकर्षक रूप दिया गया था। सिंधिया के स्वागत के लिए जगह-जगह लोगों का हुजूम लगा रहा। लोगों ने रास्ते भर आतिशबाजी चलाकर व पुष्प बर्षाकर स्वागत किया। उन्होने भी रोड शो करते हुए जनता का अभिवादन किया। रेस्ट हाउस में पहुंचकर सिंधिया ने क्षेत्र की जनता एवं कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और उनकी समस्या सुनकर मंत्रियों से निराकरण करवाया।

सिंधिया से मिलने एवं अपने शिकायती आवेदन देने लोगों की भीड़ रही। आवेदन देने आए लोगों को पुलिस ने एक-एक कर अंदर भेजा जहां पूर्व सांसद एवं मंत्रियों, जिले के अधिकारियों के समक्ष उन आवेदनों का जल्द निराकरण के लिए निर्देश दिए। करीब एक घंटे से अधिक सिंधिया ने आम जन एवं कार्यकर्ताओं से मुलाकात की।

प्रांगण पड़ा छोटा भीड़ में फंसे मंत्री
सिंधिया ने रेस्ट हाउस पहुंचकर सबसे पहले पुलवामा के शहीदों को पुष्प अर्पित करते हुए श्रद्धांजलि दी। सरकार के पांच कैबिनेट मंत्री उनके साथ में रहे।

उनसे मिलने कार्यकर्ताओं एवं लोगों की इतनी भीड़ हो गई कि रेस्ट हाउस प्रागंण छोटा पड़ गया और सिंधिया से मिलने धक्का मुक्की होने लगी और जब सिंधिया रेस्ट हाउस में पहुंचे तो गेटों पर कार्यकर्ताओं एवं आमजन की इतनी भीड़ हो गई कि मंत्रियों को भी अंदर जाने में मशक्कत करने पड़ी और वह भी जनता के बीच में फंसे रहे। इस दौरान पुलिसकर्मी लोगों को व्यवस्थित करने में लगे रहे।


जनता के समक्ष खड़े मंत्रालय : आपके लिए बनी कांग्रेस सरकार
जन शिकायत निवारण शिविर के दौरान पूर्व सांसद ने आमजन को संबोधित करते हुए कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय के मंत्री तुलसी सिलावट, शिक्षा मंत्रालय से मंत्री प्रभुराम चौधरी, श्रम मंत्रालय के मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया, खाद्य मंत्रालय के मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, राजस्व एवं परिवहन मंत्रालय के मंत्री गोविंद सिंह राजपूत सहित मप्र के पांच मंत्रालय आपके समक्ष खड़े है।

यदि कांग्रेस की सरकार बनी हे तो आपकी सेवा के लिए बनी है। इस दौरान चंदेरी विधायक गोपाल सिंह चौहान, अशोकनगर विधायक जजपाल सिंह जज्जी, मुंगावली विधायक बृजेन्द्र सिंह यादव भी उनके साथ में रहे।

सिंधिया का छलका दर्द
कार्यक्रम के दौरान सिंधिया को हार का दर्द का छलक उठा उन्होने आमजन को संबोधित करते हुए कहा कि थोड़ी कमी रह गई थी इस चुनाव में कभी-कभी हम लोग भी अति आत्म विश्वास में रह जाते है कि जीत ही रहे है एक वोट से क्या फर्क पड़ता है यह आज हम लोगों को आभास होता है।

उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि कभी भी आत्म विश्वास में मत रहना मेरे परिवार के सदस्य प्रजातंत्र में सबसे बड़ा है जनता। जनता ही आम आदमी को नेता बना देती है और जनता ही उस आम आदमी को सड़क पर खड़ा क र देती है। आज जमीन पर मैं खड़ा हूं इसका अहसास है मुझे है पर मेरी चाहत है कि इस जमीन पर मैं टिका रहूं और उसके साथ आपके दिल में भी टिका रहूं।

उन्होंने कहा कि अशोकनगर की जनता को यह विश्वास दिलाना चाहता हूं कि प्रत्यक्ष राजनीति में शायद मैं नही हूं लेकिन प्रत्यक्ष रूप से आपका जनसेवक था और हूं और आखिरी सांस तक रहूंगा। मैं विश्वास दिलाता हूं कि संसद की चार दीवारी में उपस्थित मेरी न हो, आपकी खुशी में खड़ा रहूं न रहूं लेकिन संकट आए तो कोई रहे न रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया आपके साथ खड़ा है। उन्होंने अंडरब्रिज पर बोलते हुए कहा कि मेने सुना है कुछ दिन पहले उसका शिलान्यास हुआ है मुझे खुशी है। मेरा नाम शिलालेख में नही है लेकिन एक-एक ईंट पर मेरा प्यार लिखा है।

BJP Congress Congress leader
Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned