32 सीटर स्कूल बस में मिले 57 बच्चे, ऑटो भी ओवरलोड़ तो लगाया 20 हजार जुर्माना

- वाहनों पर सीजेएम की कार्रवाई: सड़क पर सीजेएम ने कराई 35 वाहनों की जांच, कमियां मिलने पर 22 पर कार्रवाई।
- बाइक से जा रहे थे तीन छोटे बच्चे, पुलिस ने पकड़ा तो बोले हम तो टिकटोक वीडियो बनाने जा रहे।

अशोकनगर. वाहनों में निर्धारित मापदंडों की जांच करने और यातायात नियमों का पालन कराने सीजेएम ने खुद ही सड़क पर पहुंचकर वाहनों की जांच कराई। 35 वाहनों की जांच में 22 वाहनों पर कमियां मिलने से कार्रवाई की।

वहीं 32 सीटर स्कूल बस में 57 बच्चे बैठे मिले तो स्कूली बच्चों को लेकर जा रहे ऑटो भी ओवरलोड़ मिले, तो सीजेएम ने 20 हजार रुपए का जुर्माना लगाया। वहीं यातायात पुलिस ने 17 वाहनों के चालान बनाए। हालांकि इस कार्रवाई से वाहन चालकों में हडकंप मच गया और वाहन चालक रास्ते बदलकर भागते नजर आए।

वाहनों की जांच करने सीजेएम अमित भूरिया सुबह साढ़े आठ बजे एचडीएफसी चौराहा पहुंचे, साथ ही डीएसपी प्रमोद शाक्य और यातायात पुलिस भी उनके साथ मौजूद रही। सीजेएम ने 9:45 बजे तक वहीं पर रुककर स्कूली वाहनों व अन्य वाहनों की जांच करवाई।

विवेकानंद स्कूल की 32 सीटर बस को रुकवाकर जांच की तो उसमें 57 बच्चे बैठे मिले, वहीं पांच बच्चों की क्षमता वाले ऑटो भी 10 से 12 बच्चे बिठाकर ले जाते मिले। इस पर स्कूल बस सहित चार ऑटो को जब्त किया गया। साथ ही वाहनों में फस्र्ट एड बॉक्स व अन्य निर्धारित मापदंडों व दस्तावेजों की जांच की।

जिनमें से स्कूल बस और दो ऑटो पर सीजेएम ने 20 हजार रुपए जुर्माना लगाया। हालांकि पकड़े गए दो ऑटो के चालक दस्तावेज लेकर नहीं पहुंचे, जिन पर बाद में कार्रवाई होगी। वहीं यातायात पुलिस ने भी हेलमेट न पहनने और दोपहिया वाहन पर तीन सवारी होने पर 17 दोपहिया वाहनों के चालान बनाए और 6500 रुपए समन शुल्क वसूल किया।

इसके अलावा कई लोग बाइकों पर चार-चार बच्चों को बिठाकर ले जाते मिले। बच्चों को स्कूल छुड़वाने के बाद पुलिस ने बाइक जब्त की और चालान बनाए।

कोई रास्ता बदल भागा तो कोई बीच रास्ते में उतार गया सवारी-
सीजेएम की कार्रवाई की जानकारी मिलते ही वाहन चालकों में हड़कंप मच गया। इस दौरान कई ऑटो और वाहन कार्रवाई देख बीच में से ही रास्ता बदलकर भाग गए, तो कई वाहनों ने बीच में ही सवारियां उतार दीं।

इससे बाद में लोगों को पैदल जाना पड़ा। तो वहीं कुछ ऑटो स्कूली बच्चों को भी रास्ते में ही उतारकर भाग गईं, इससे बच्चों को पैदल स्कूल जाना पड़ा। इसके अलावा कुछ दोपहिया वाहन चालक अपनी सवारियों को पहले ही उतारकर आगे निकल गए और उनके साथी पैदल निकले। इसके बाद कुछ दूरी पर वह फिर स बाइकों पर बैठकर चले गए।

कार्रवाई के दौरान यह मामले रहे खास-
1. बाइक पर तीन छोटे बच्चे, रोका तो बोले वीडियो बनाने जा रहे-
कार्रवाई के दौरान एक बाइक पर तीन छोटे बच्चे जाते दिखे, जब पुलिस ने उन्हें रोका और पूछा तो वह बच्चे बोले कि हम तो टिकटोक वीडियो बनाने के लिए जा रहे थे। पहले तो पुलिस ने उनकी बाइक रख ली और परिजनों को बुलवाया। बाद में परिजनों ने गलती मानी तो फिर से बाइक न चलाने देने की समझाईश देकर छोड़ा।

2. पहले निवेदन, नहीं मानें तो चंदा करके भरा जुर्माना-
बाइक पर बिना हेलमेट और तीन सवारियां जाते देखकर पुलिस ने पकड़ लिया। इससे पहले तो बाइक चालकों ने पुलिस से बाइक छोडऩे का निवेदन किया, लेकिन जब बाइक नहीं छूटी तो बाइकों पर बैठे सभी लोगों ने कार्रवाई के दौरान ही आपस में चंदा किया और जुर्माना भरा। वहीं इस दौरान एक व्यक्ति अपनी बाइक को दूसरी चाबी से चालू करके भाग गया।

Show More
Arvind jain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned