नहीं हटा कालेज से प्रशासन का कब्जा गैलरी और टेंट में देनी पड़ेगी छात्रों को परीक्षा

कालेज के द्वित्तीय तल पर रखी ईवीएम रखा होने से प्रशासन का कब्जा, कालेज प्रबंधन ने परीक्षा के लिये कक्षों की मांग, दो हजार से अधिक छात्र देगें परीक्षा।

By: Arvind jain

Published: 18 Dec 2018, 02:08 PM IST

अशोकनगर. विधानसभा चुनावों के लिये जिला प्रशासन द्वारा शासकीय नेहरु डिग्री कालेज को निर्वाचन गतिविधियों के लिये अधिग्रहण कर लिया गया था। जिससे निर्वाचन सामग्री बांटे जाने के समय से आज तक छात्रों को परेशानी का सामना करना पड रहा है। मतगणना के बाद चुनाव प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद भी कालेज के कक्षों को खाली नहीं किया गया है। द्वित्तीय तल पर अभी भी ईवीएम रखी होने से छात्रों का आना जाना बंद कर रखा है। मंगलवार से कालेज छात्रों की पंचम सेमेस्टर की परीक्षाएं शुरू हो रही है। परीक्षा कराना कालेज प्रबंधन के लिये समस्या बन गया है।

नीचे के तल पर आडोटोरियम व गैलरी मिलाकर चार पंाच कक्षों में छात्रों को बैठने की व्यवस्था की गई है। मंगलवार की परीक्षाएं तो कालेज प्रबंधन जैसे तैसे पूरी कर लेगा। बुधवार को होने वाली बीए की परीक्षा में १४०० से ज्यादा छात्र-छात्राएं होने के कारण परीक्षा कहां करवाएगें यह प्रबंधन के लिये समस्या बना हुआ है। प्राचार्य डीआर राहुल ने बताया कि प्रशासन ने ऊपर के कमरे देने से मना कर दिया है नीचे व्यवस्था की है। विधि भवन के तीन कक्ष है इसके अलावा आडोटोरियम व गैलरी में परीक्षा करवाई जाएगी। बुधवार की परीक्षा के लिये दिक्कत आएगी इसके लिये कलेक्टर, एसडीएम से बात कर रहे है। कक्ष न मिलने पर कुछ वैकल्पिक व्यवस्था करेगें।

करीब एक माह से विधानसभा चुनावों की गतिविधियां के लिये प्रशासन द्वारा कालेज के कक्षों का अधिग्रहण कर लिया गया था। जिसके बाद कालेज में निर्वाचन प्रक्रियाएं, प्रशिक्षण, सामग्री का रख रखाब, सामग्री का वितरण के बाद करीब १५ दिन तक कालेज को पूर्ण रूप से कालेज पर अधिग्रहण कर लिया गया था जिसके बाद कालेज में पढऩे वाले छात्रों की पढाई तो प्रभावित हुई साथ ही कालेज प्रबंधन के शासकीय काम भी प्रभावित हुए।

जिसके बाद कालेज के द्वित्तीय तल पर वर्तमान में भी प्रशासन द्वारा कब्जा बना हुआ है। जहां ईवीएम को रखा गया है। और पुलिस तैनात भी की गई है। ऐसे में मंगलवार से कालेज में होने वाले पंचम सेमेस्टर की होने वाली परीक्षाओं में भी छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। परेशानी को देखते हुए कालेज प्रबंधन न प्रशासन को कालेज के कक्षों को खाली करने का आग्रह किया है और परीक्षाओं में होने वाली परेशानियों को भी प्रशासन के सामने रखा है। ऐसे में यदि प्रशासन कालेज के कक्षों को खाली नहीं करता तो छात्र-छात्राओं को कड़ाके की ठंड में गैलरियों में परीक्षा दिलवाई जाएगी।

कड़ाके की ठंड में टेंट मे बैठकर देगें परीक्षा
मंगलवार से होने वाली पंचम सेमेस्टर की परीक्षाओं मे दो शिफ्टों में परीक्षा दिलवाई जाएगी जिसमेें सुबह बीकाम के छात्र परीक्षा देगें और दोपहर मे बीएससी की परीक्षाएं दिलवाई जाएगीं। कक्षों की कमी के कारण छात्र-छात्राओं को खुले में गैलरी में बैठना पड़ेगा। सबसे ज्यादा परेशानी बुधवार को बीए की परीक्षा में छात्र-छात्राओं को होगी जिनकी संख्या अधिक होने के कारण कालेज में पर्याप्त व्यवस्था नहीं होगी और कड़ाके की ठंड में कालेज प्रबंधन द्वारा ग्राउंड में टेंट लगवा कर परीक्षाएं दिलवाई जाएगी। जिसमें करीब १४०० परीक्षार्थी हिस्सा लेगें।

कक्षाएं खाली कर बनाई बैठक व्यवस्था
कालेज प्रबंधन का कहना है कि कालेज के द्वित्तीय तल पर ईवीएम रखी हुई है जिसके बाद कालेज के पास मात्र पांच कक्ष बचे हुए है। साथ ही तीन विधि कालेज की कक्षाएं एवं ओडोटोरियम हाल में व्यवस्था बनाई जा रही है। इसके अलावा गैलरी में भी बैठने की व्यवस्था की है। जगह कम होने पर साइकिल स्टेंड की जगह पर टेंट लगवाकर बैठने की व्यवस्था करेगें।

मंगलवार से बच्चों की परीक्षा है जिसके लिये प्रशासन से कालेज कक्षों को खाली करने की मांग की है। प्रशासन ने ऊपर के कमरे देने से मना कर दिया है। इसलिये नीचे व्यवस्था की है। बुधवार की परीक्षा में ज्यादा छात्र छात्राएं होने से दिक्कत आएगी। इसके लिये कलेक्टर, एसडीएम से बात कर रहे है। बच्चों को परीक्षा तो दिलवानी है इसके लिये वैकल्पिक व्यवस्था करेगें टेंट लगाकर परीक्षा दिलवाएंगे। प्रयास है ऐसी नौबत न आए।
डीआर राहुल प्राचार्य नेहरु स्नातकोत्तर महाविद्यालय अशोकनगर

Arvind jain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned