बोर्ड परीक्षा में परीक्षा से पहले जूते मोजे उतरवाकर होगी चेकिंग मोबाइल घड़ी रहेगें प्रतिबंधित

- 43 परीक्षा केन्द्रों पर 12740 कक्षा 10 के और कक्षा 12 के 7470 परीक्षार्थी होगेें शामिल...

By: Arvind jain

Published: 01 Mar 2020, 03:49 PM IST

अशोकनगर. कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा 02 मार्च से तथा 10 वीं की बोर्ड परीक्षा 03 मार्च से प्रारंभ हो रही है। इस बार परीक्षा मेें नकल रोकने के लिए मंडल ने पुख्ता इंतजाम किए है। परीक्षार्थी अगर जूते मोजे, जेकेट व टोपी पहनकर आते है तो परीक्षा कक्ष में घुसने से पहले इन्हें उतरवाकर चेकिंग की जाएगी तथा मोबाइल व घड़ी प्रतिबंधित रहेगें।

परीक्षा केन्द्रों पर विभाग द्वारा फर्नीचर की व्यवस्था के साथ बिजली पानी जैसी व्यवस्थाएं भी सुचारु रहे इसकी व्यवस्था की गई है। दोनों कक्षाओं की परीक्षाएं प्रात: 09 बजे से दोपहर 12 बजे तक होंगी। कक्षा 10 में 12740 व कक्षा 12 मेें 7440 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होगें।

परीक्षा संपन्न कराने के लिए जिले में फर्नीचर की व्यवस्था की गई है। लेकिन कुछ ग्रामीण क्षेत्र के परीक्षा केन्द्रों पर फर्नीचर की समस्या आ सकती है। जिनमें नईसराय, सेहराई, पठारी परीक्षा केन्द्र है जहां दसवीं के परीक्षार्थियों को कुछ कमरों में टाटपट्टी पर बैठकर परीक्षा देनी पड़ सकती है। विभाग द्वारा बताया जा रहा है कि फर्नीचर किराए पर भी नहीं मिल रहा है।

MUST READ : धारा-144 के संदेह के बीच - बोर्ड परीक्षाओं से पहले MP के करीब 50 हजार शिक्षक एवं गैर शिक्षक कर्मचारियों का कराया गया बीमा

43 केन्द्रों पर 450 शिक्षक देगें डïयूटी
हाई व हायर सेकेंडरी परीक्षा के लिए ४३ परीक्षा केन्द्र बनाए गए है जिनमें 450 मिडिल व प्राइमरी के शिक्षकों की डïयूटी लगाई गई है इसके साथ ही 86 केन्द्र व सहायक केन्द्र अध्यक्ष बनाए गए है तथा 14 बाबू भी व्यवस्थाएं संभालेगें। जिस विषय का शिक्षक होगा उसकी डयूटी भी उस दिन नही लगाई जाएगी।

पर्यवेक्षक भी नहीं ले जा सकेगें मोबाइल
परीक्षा केन्द्रों पर मोबाइल, केलकूलेटर, घड़ी आदि किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रोनिक उपकरण ले जाने पर प्रतिबंधित रहेगा। पर्यवेक्षकों को भी मोबाइल प्रतिबंधित रहेगा। परीक्षा केन्द्रों पर प्रश्नपत्र का सीलबंद पैकेटों का पंचनामा बनाकर खोलने से पहले केन्द्र अध्यक्ष व सहायक केन्द्र अध्यक्ष, पर्यवेक्षक व अन्य स्टाफ व छात्रों के मोबाइल भी कागज चिपकाकर अलमारी में लॉक कर दिए जाएगें।

एडीपीसी अनिल खंतवाल ने दिए विद्यार्थियों को टिप्स
- बच्चे परीक्षा को तनाव में न लेें।
- परीक्षा के दिन रात में न जागें पूरी नींद लें।
- परीक्षा केन्द्र जाने से पहले हल्का आहार लेकर आएं।
- घबराएं नहीं पेपर को गंभीरता से पढ़ें और जो प्रश्न अच्छा आता है उसे सबसे पहले करें।

Arvind jain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned