पुलिस ने बाइक रोकी तो जमा करने कंधे पर रखकर ले गए परीक्षा सामग्री

पुलिस ने बाइक रोकी तो जमा करने कंधे पर रखकर ले गए परीक्षा सामग्री

Arvind jain | Publish: May, 21 2019 01:27:57 PM (IST) Ashoknagar, Ashoknagar, Madhya Pradesh, India

कॉलेज में स्ट्रांग रूम तो विधि भवन में हुई परीक्षा, एक दिन पहले पुलिस की मौजूदगी में निकाली गई थी कॉलेज बिल्डिंग से परीक्षा सामग्री, वीडियोग्राफी भी कराई।

अशोकनगर. बीकॉम छठवे सेमेस्टर की परीक्षा कॉलेज प्रबंधन को समस्याओं के बीच शुरू कराना पड़ी। शासकीय नेहरू स्नातकोत्तर महाविद्यालय में स्ट्रांग रूम होने से कॉलेज प्रबंधन ने विधि कॉलेज में परीक्षा शुरू कराई। सोमवार से शुरू हुई इस परीक्षा में 219 छात्र-छात्राएं शामिल हुए। विधि भवन के कमरे फुल हो जाने से छात्र-छात्राओं को बरामदे में बिठाकर परीक्षा ली गई। साथ ही परीक्षा के बाद नीचे ही कॉपियों को पैककर बंडल बनाना पड़े।


स्ट्रांग रूम में परीक्षा सामग्री होने से सामग्री को उठाने के लिए दो कर्मचारियों को प्रशासन ने पास जारी किए थे। इससे रविवार को वीडियो कैमरा की नजर के सामने दोनों कर्मचारियों ने कॉलेज बिल्डिंग से परीक्षा सामग्री उठाई और सोमवार को परीक्षा ली। परीक्षा होने के बाद जब कॉलेज के कर्मचारी परीक्षा सामग्री का बंडल बनाकर जमा करने के लिए बाइक से ले गए तो वहां तैनात पुलिस ने बाइक को रोक दिया।

इससे बाद में कर्मचारियों को परीक्षा सामग्री कंधे पर ही रखकर जमा करने के लिए जाना पड़ा। कर्मचारियों का कहना है बंडल वजनदार होने से उन्हें परेशान होना पड़ा। वहीं 22 मई को भी कॉलेज में परीक्षा होना है और उस दिन भी इसी तरह से अव्यवस्थाओं के बीच छात्रों की परीक्षा कराना पड़ेगी।

किट और प्रमाण पत्रों के लिए छात्रों को दो घंटे तक धूप में बिठाया

शहर में 21 अप्रैल से शुरू हुए ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर का सोमवार को समापन किया गया। जिसमें छात्रों को विभिन्न खेलों की बारीकियां सिखाई गईं, वहीं समापन अवसर पर किट और प्रमाण पत्रों के लिए छात्र-छात्राओं को लगातार दो घंटे तक तेज धूप के बीच खुले में ही बिठाया गया। इससे बच्चे धूप से परेशान होते रहे। बाद में करीब 10 बजे प्रमाण पत्र वितरित किए गए।


संजय स्टेडियम में चले इस ग्रीष्मकालीन खेल प्रशिक्षण शिविर में करीब 400 खिलाड़ी छात्र-छात्राएं शामिल हुए। लेकिन समापन कार्यक्रम के दिन जिम्मेदारों की लापरवाही से छात्र धूप में बैठकर परेशान होते रहे। समापन के दिन ही खिलाड़ी छात्र-छात्राओं की सूची तैयार की गई और फिर प्रमाण पत्रों पर भी लिखे गए और बच्चों से हस्ताक्षर कराए। बच्चे सुबह छह बजे से ही पहुंच गए थे और सुबह आठ बजे से धूप तेज हो गई। जहां पर 10 बजे तक बच्चे तेज धूप में ही बैठे रहे और अधिकारी छाया में बैठे रहे। इतना ही नहीं तेज धूप में बच्चों को परेशान होते देखने के बावजूद भी भाषणों को लंबा खींचा गया।

 

इससे छात्र पूरे समय परेशानियों से जूझते हुए कार्यक्रम के समाप्त होने का इंतजार करते रहे। बाद में सभी बच्चों को किट और प्रमाण पत्र वितरित किए गए। साथ ही उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले बच्चों को सील्ड प्रदान की गईं। कार्यक्रम में अपर कलेक्टर डॉ.अनुज रोहतगी, डीईओ आदित्यनारायण मिश्रा, सीएमएचओ डॉ.जेएस त्रिवेदिया, सीएमओ शमशाद पठान और जिला क्रीडा अधिकारी रमेश ओझा सहित कई अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned