मौज-मस्ती के आगे 'मौत' का भी नहीं खौफ, देखें लापरवाही की तस्वीरें

रविवार को लॉकडाउन में दिखा अनलॉक का नजारा, मौज मस्ती और पिकनिक मनाने छरार पहुंचे हजारों लोग...

By: Shailendra Sharma

Published: 23 Aug 2020, 09:18 PM IST

अशोकनगर. मध्यप्रदेश में कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए भले ही रविवार को लॉकडाउन लगाया गया है लेकिन इसके बावजूद लोगों की लापरवाही कम होते नजर नहीं आ रही है। रविवार को लॉकडाउन के बीच अशोकनगर से तीन किलोमीटर दूर अमाही छरार पर जो तस्वीरें सामने आईं वो ये साफ बता रही हैं कि तो लोगों को कोरोना का खौफ है..न मौत का डर और न ही प्रशासनक की किसी तरह की रोक।

 

ash_1.jpg

तस्वीर नंबर-1. छरार पर पहुंचे हजारों लोग
चट्टान से गिरता पानी और उसके नीचे नहाते लोग, ये तस्वीर भले ही देखने में खूबसूरत लग रही हो लेकिन इसके पीछे की भयावहता भी कम नहीं है। ये तस्वीर अशोकनगर जिले से महज 3 किलोमीटर दूर स्थित अमाही छरार तालाब की है जहां रविवार को लोगों का हुजूम उमड़ा। हजारों की संख्या में लोग यहां पर अपने दोस्तों और परिवार के साथ पहुंचे। बता दें कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण रविवार को पूरे प्रदेश में लॉकडाउन लगाया गया है लेकिन इसके बावजूद लोग कोरोना जैसी महामारी को भी दरकिनार करते हुए यहां पर पहुंच गए और मेले सा नजारा नजर आया।

 

0ic.jpg

तस्वीर नंबर-2. तेज बहाव पानी में नहाते लोग
कोरोना को ठेंगा दिखाते लोग यहां पर तेज बहाव पानी में गोते लगाते भी दिखाई दिए। परिवार के साथ तेज बहाव के बीच लोग बच्चों को साथ में लेकर नहाने के लिए पहुंच गए। ऐसी ही एक लापरवाही उस वक्त भी सामने आई जब एक शख्स अपने छोटे बच्चे को लेकर पानी में पहुंच गया। पानी में पैर फिसलने के कारण शख्स बच्चे सहित पानी में गिर गया ये तो गनीमत रही कि आसपास और भी लोग थे जिन्होंने तुरंत बच्चे को पानी से बाहर निकाल लिया वरना डूबने से उसकी जान जा सकती थी।

 

jipsy.jpg

तस्वीर नंबर-3. तेज बहाव पानी में डाली जिप्सी
एक और लापरवाही की तस्वीर में आप देख सकते हैं हजारों लोगों की भीड़ के बीच कुछ युवक जिप्सी गाड़ी लेकर पानी में उतर गए। कुछ ही दूर जाने पर जिप्सी बंद पड़ गई और उसे लोगों की मदद से बाहर निकालना पड़ा। जिप्सी पानी में आधी डूब चुकी थी ऐसे में उसके बहने की संभावनाएं भी ज्यादा थीं।

ये तस्वीरें लोगों की लापरवाही को उजागर तो करती ही हैं साथ ही साथ प्रशासन के उस दावे की भी कलई खोलती हैं जिसमें रविवार को लॉकडाउन का अधिकारी कड़ाई से पालन कराने की बातें कहते हैं। छरार पर हजारों लोगों की भीड़ के पहुंचने से ये साफ जाहिर होता है कि लॉकडाउन को लेकर शहर में सख्ती उतनी नहीं बरती जा रही है जितनी की होनी चाहिए।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned