दंडवत होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे किसान, पूजा-अर्चना भी की, कहा- कलेक्टर भी भगवान की तरह हैं

किसानों ने कलेक्टर से बकाया भुगतान दिलाने की मांग की।

By: Pawan Tiwari

Published: 12 Jan 2021, 07:43 AM IST

अशोकनगर. नए कृषि कानून को लेकर देश भर में किसान आंदोलन कर रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ अपनी मांगों को लेकर मध्यप्रदेश के अशोकनगर जिले के किसानों ने अनूठा प्रदर्शन किया। हालांकि किसानों के प्रदर्शन से आम जनता को कोई तकलीफ नहीं हुई।

दरअसल, अशोकनगर जिले में मांगों को पूरा कराने के लिए चार दिन से धरने पर बैठे किसान 200 मीटर पैंड भरकर (दंडवत होकर) कलेक्टर चेंबर तक पहुंचे और बोले- हमारे लिए कलेक्टर भी भगवान की तरह हैं और उन्हीं को मनाने का प्रयास कर रहे हैं। इस दौरान रास्ते में किसानों ने कलेक्टर की जय, सरकार की जय और भारतमाता जिंदाबाद के नारे भी लगाए। बाद में कलेक्ट्रेट भवन के बाहर निकलकर पूजा-अर्चना की, दीप-अगरबत्ती जलाए, होम लगाया और नारियल भी फोड़ा।

क्या है इन किसानों की मांगें
भारतीय किसान संघ के जिलाध्यक्ष रामकिशन रघुवंशी सहित करीब दो दर्जन किसानों ने पसीने से लथपथ होने के बाद भी इसी तरह से कलेक्ट्रेट की सीड़ियां भी चढ़ीं और दूसरी मंजिल पर पहुंचे। किसानों की वर्ष 2018 की सोयाबीन की भावांतर राशि का भुगतान, 2019 की स्वीकृत बीमा राशि का भुगतान, 2020 की सोयाबीन फसल में नुकसान का मुआवजा और कर्जमाफी के इंतजार में ओवरड्यू हो चुके किसानों का कर्जा माफ करने सहित कृषि कानून में संसोधन कर समर्थन मूल्य पर खरीदी की अनिवार्यता आदि मांगें मुख्य हैं।

Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned