scriptVegetables damaged due to frost, farmers forced to throw | तुषार के कहर से सब्जियों में नुकसान, सड़क पर फेंकने को मजबूर किसान | Patrika News

तुषार के कहर से सब्जियों में नुकसान, सड़क पर फेंकने को मजबूर किसान

तुषार का असर सब्जियों पर साफ दिखने लगा है, जिन्हें किसान हमारे पास यह कहकर रख जाते हैं कि भले ही सस्ते दाम में बिक जाएं, लेकिन लोग खरीदते नहीं हैं तो हम भी तुषार से खराब हुई सब्जियां जानवरों को खिलाने मजबूर हैं।

अशोकनगर

Published: December 27, 2021 03:00:16 pm

अशोकनगर. जहां शीतलहर से सब्जियों में हुए नुकसान को तो किसान झेल नहीं पा रहे हैं, वहीं मौसम के पूर्वानुमान ने फिर से किसानों की चिंता बढ़ा दी है। स्थिति यह है कि तुषार से सब्जी की फसलों में ऐसा नुकसान हुआ कि किसान सड़कों पर फेंकने मजबूर हैं, वहीं मौसम विभाग ने कल से दो दिन क्षेत्र में ओलावृष्टि की आशंका जताई है। इससे किसानों की चिंताएं बढ़ गई हैं।

tushar.jpg

सब्जी की फसल को किया बर्बाद
शीतलहर के साथ तुषार ने सब्जी की फसलों को बर्बाद कर दिया है, जो टमाटर पांच दिन पहले तक लाल चमकदार दिख रहे थे, वह अब झुलसे हुए नजर आ रहे हैं। वहीं बैंगन सहित अन्य फसलें भी खराब हो गई है। इसकी हकीकत सुबह के समय सब्जी मंडी में देखी जा सकती है। क्षेत्र की जो सब्जियां कुछ दिन पहले मंहगी बिक रही थीं, लेकिन तुषार से हुए नुकसान के बाद उन सब्जियों को कोई भी खरीदने के लिए तैयार नहीं है। वहीं जिनमें कम नुकसान हैं, उन्हें कम दामों में खरीदा जा रहा है। इससे किसान सड़कों पर ही सब्जी फेंकने मजबूर हैं। सब्जी विक्रेता गोलू डाबर का कहना है कि तुषार का असर सब्जियों पर साफ दिखने लगा है, जिन्हें किसान हमारे पास यह कहकर रख जाते हैं कि भले ही सस्ते दाम में बिक जाएं, लेकिन लोग खरीदते नहीं हैं तो हम भी तुषार से खराब हुई सब्जियां जानवरों को खिलाने मजबूर हैं।

किसान बोले- तुषार से हो गया लाखों का नुकसान

किसानों का कहना है कि उन्होंने इस उम्मीद से बड़े रकबे में सब्जी की खेती की थी कि सब्जी मंहगी बिकती है और इससे वह मुनाफा कमा लेंगे। इसके लिए उन्होंने दो महीने खेतों में दिनरात मेहनत की और फसलों को तैयार किया, लेकिन जैसे ही सब्जी लगना शुरु हुई तो कुछ दिन पहले शीतलहर के साथ तुषार लगने से सब्जियां पूरी तरह से खराब हो गईं, जिससे किसानों को लाखों रुपए का नुकसान हो गया है। इससे किसानों को कमाई तो दूर लागत भी निकलती नजर नहीं आ रही है।

राजस्थान में ऊपरी हवा का चक्रवात बना, कल से दो दिन ओलावृष्टि का अनुमान

कल से क्षेत्र में ओलावृष्टि की आशंका है। मौसम विज्ञानी पीके शाह के मुताबिक अफगानिस्तान व पाकिस्तान में बने पश्चिमी विक्षोभ से दक्षिण-पश्चिमी राजस्थान में ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है, साथ ही यहां से पश्चिमी मप्र होते हुए विदर्भ तक द्रोणिका निकली हुई है। इससे 28 व 29 दिसंबर को ओलावृष्टि व हल्की बारिश का अनुमान है। उनका कहना है कि इसका असर सिर्फ दो दिन ही रहेगा। वहीं सोमवार शाम से क्षेत्र में बादल छाने का अनुमान है। मौसम विभाग की इस चेतावनी से किसानों की चिंताएं बढ़ गई हैं।

यह भी खास
लगातार चार दिन शीतलहर जारी रहने से फसलों पर बर्फ जम गई थी, इससे तेवड़ा व बटरी की फसल में भी हल्का नुकसान बताया जा रहा है। हालांकि पिछले चार दिन से तापमान बढऩे से शीतलहर से राहत महसूस हुई थी, लेकिन अब मौसम विभाग ने ओलावृष्टि की आशंका जताई है। रविवार को अधिकतम तापमान बढ़कर 26 .8 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ और न्यूनतम तापमान 10 डिग्री पर पहुंचा, जो सामान्य से अधिक रहे।

यह भी पढ़ें : 2022 में विशेष संयोग-दो बार रवि पुष्य और एक बार गुरु पुष्य नक्षत्र का योग

किसानों से जानें नुकसान के हाल
15 बीघा में सब्जी लगाई थी। तीन बीघा में बैंगन थे जो खराब हो गए और एक बीघा में धनिया भी लाल पड़ गया है। वहीं आलू में भी नुकसान हुआ है। तुषार से खराब हुई सब्जी को कोई खरीदने तैयार नहीं है, इससे फेंकना पड़ रही है।
चंदनसिंह, किसान
आठ बीघा जमीन में सब्जी लगाई थी। एक बीघा की बाल्होर तुषार से नष्ट हो गई हैं। वहीं धनिया, बैंगन, टमाटर भी खराब हो गए और आलू में भी नुकसान हुआ है। इस सब्जी को कोई खरीद नहीं रहा है।
मेहरबानसिंह कुशवाह, किसान

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

गोवा में कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नहीं, NCP शिवसेना के साथ मिलकर लड़ेगी चुनावAntrix-Devas deal पर बोली निर्मला सीतारमण, यूपीए सरकार की नाक के नीचे हुआ देश की सुरक्षा से खिलवाड़Delhi Riots: दिलबर नेगी हत्याकांड में हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, 6 आरोपियों को दी जमानतDelhi: 26 जनवरी पर बड़े आतंकी हमले का खतरा, IB ने जारी किया अलर्टपंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशLeopard: आदमखोर हुआ तेंदुआ, दो बच्चों को बनाया निवाला, वन विभाग ने दी सतर्क रहने की सलाहइन सेक्टरों में निकलने वाली हैं सरकारी भर्तियां, हर महीने 1 लाख रोजगारमहज 72 घंटे में टैंकों के लिए बना दिया पुल, जिंदा बमों को नाकाम कर बचाई कई जान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.