रात को पेट में दर्द के साथ हुई उल्टी, दो दिन बाद जांच में बच्चे को डेंगू की पुष्टि

रात को पेट में दर्द के साथ हुई उल्टी, दो दिन बाद जांच में बच्चे को डेंगू की पुष्टि

Praveen tamrakar | Publish: Sep, 08 2018 11:16:23 AM (IST) Ashoknagar, Madhya Pradesh, India

जिले में एक साथ कई बीमारियां दस्तक दे चुकी हैं।

अशोकनगर. जिले में एक साथ कई बीमारियां दस्तक दे चुकी हैं। जहां अब तक स्वाइन फ्लू, जापानी बुखार, दिमागी बुखार और स्क्रब टाइफस के मरीज मिल चुके हैं, वहीं अब जिले में डेंगू का भी मरीज मिला है। 11 साल के बच्चे में जांच के बाद डेंगू की पुष्टि हुई, जो इलाज के लिए भोपाल में भर्ती है। हालांकि मलेरिया विभाग का कहना है कि उन्हें अभी इसकी सूचना मिली है और गांव पहुंचकर जांच कराई जाएगी।

कदवाया निवासी 11 वर्षीय कृष्णा उर्फ ध्रुव पुत्र प्रवीण जैन को डेंगू की पुष्टि होने पर भोपाल एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पिता प्रवीण जैन ने बताया कि रात में उसके बेटे ध्रुव के पेट में दर्द हुआ और उल्टी आने के साथ ही वह बेहोश हो गया। उसे इलाज के लिए बहेरिया ले गए, जहां से अशोकनगर भेज दिया। शहर के एक निजी अस्पताल में जांच के बाद ध्रुव को डेंगू पीडि़त बताया गया। ध्रुव को इलाज के लिए गुरुवार को भोपाल के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पिता प्रवीण जैन का कहना है कि भोपाल में कराई गई जांच में भी ध्रुव में डेंगू की पुष्टि हुई है और करीब 30 हजार रुपए इलाज पर अब तक खर्च हो चुके हैं।

नहीं आईं मच्छरदानी
मच्छर के काटने से होने वाली बीमारियों से बचाव के लिए जिले में 1.75 लाख विशेष मच्छरदानियों का जून के पहले सप्ताह में वितरण होना था। मलेरिया विभाग ने जिले के 267 गांवों को चिन्हित किया था। लेकिन मच्छरदानियां वितरित होना तो दूर, जिले में आई भी नहीं हैं।

गंभीर बीमारियों की पुष्टि के बाद भी लापरवाही
जिले में जहां दो साल पहले करीब पांच लोगों की डेंगू से मौत हो चुकी है। वहीं पिछले साल एक महिला की स्वाइन फ्लू से मौत हो गई है और इस साल भी डेंगू से एक महिला की मौत हो चुकी है। इसके अलावा दिमागी बुखार और जापानी बुखार से भी मुंगावली तहसील में दो बच्चों की मौत हो चुकी है। वहीं जापानी बुखार की एक बच्चे में भी पुष्टि हुई और जिले में मलेरिया के मरीजों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। वहीं मलेरिया विभाग जिले में लापरवाह बना हुआ है, जबकि जापानी बुखार, दिमागी बुखार, डेंगू व मलेरिया मच्छर के काटने से फैलता है।

कदवाया में डेंगू का मरीज मिलने की मुझे सीएमएचओ ऑफिस से सूचना मिली है, लेकिन अब तक भोपाल से हमारे पास ईमेल नहीं आया है। इससे मामले को संदिग्ध लग रहा है, हालांकि गांव में टीम भिजवाकर सर्वे कराया जाएगा और पुष्टि होने के बाद भी कुछ कहा जा सकता है।
डॉ.दीपा गंगेले, जिला मलेरिया अधिकारी अशोकनगर

Ad Block is Banned