scriptYour eyes will not be weak by adopting the 20-20 formula | 20-20 का फार्मूला अपनाने से नहीं होगी आपकी आंखें कमजोर | Patrika News

20-20 का फार्मूला अपनाने से नहीं होगी आपकी आंखें कमजोर

जब कई स्टूडेंट्स की आंखों की जांच की गई, तो हैरान कर देने वाला खुलासा हुआ, करीब 35 प्रतिशत से अधिक बच्चों की आंखें कमजोर नजर आई.

अशोकनगर

Published: March 04, 2022 09:09:17 am

अशोकनगर. एक साथ जब कई स्टूडेंट्स की आंखों की जांच की गई, तो हैरान कर देने वाला खुलासा हुआ, करीब 35 प्रतिशत से अधिक बच्चों की आंखें कमजोर नजर आई, जिसका मुख्य कारण मोबाइल और लेपटॉप का अधिक उपयोग बताया जा रहा है, अगर आपकेे यहां भी किसी की आंखें कमजोर हो रही है, तो आज से ही 20-20 का फार्मूला अपनाएं, इससे आंखें स्वस्थ रहेगी।

20-20 का फार्मूला अपनाने से नहीं होगी आपकी आंखें कमजोर
20-20 का फार्मूला अपनाने से नहीं होगी आपकी आंखें कमजोर

एक्सपर्ट व्यू:
मोबाइल-लेपटॉप का ज्यादा इस्तेमाल मुख्य कारण
जिला अस्पताल के नेत्र सर्जन डॉ. संदीप भल्ला के मुताबिक पहले लोग दूरदृष्टि का ज्यादा इस्तेमाल करते थे, लेकिन लेपटॉप, मोबाइल व ऑनलाइन क्लासेस का इस्तेमाल होने से नजर कमजोर हो रही है, क्योंकि छात्र दूर की बजाय नजदीक ज्यादा समय तक देख रहे हैं। जापान-कोरिया में तो 80 फीसदी छात्रों को चश्मा लगाना पड़ता है, यह आधुनिकता का दुष्परिणाम भी है।

आंखों को स्वस्थ रखने अपनाए यें फार्मूला

20:20:20 के फॉर्मूला के इस्तेमाल से आंखों को स्वस्थ रखा जा सकता है, यदि छात्र 20 मिनट पास तक देखते हैं तो 20 सेकंड तक उन्हें 20 फीट दूर-दूर देखना चाहिए। इससे आंखों को आराम मिलता है और आंखों की एक्सरसाइज भी हो जाती है, इससे नजर कमजोर नहीं होगी।

35 फीसदी विद्यार्थियों की नजर कमजोर

भागदौड़ भरे इस आधुनिक जमाने में युवाओं की आंखें कमजोर होने लगी हैं। अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि कॉलेज में 196 विद्यार्थियों की आंखों की जांच हुई, इनमें 35 फीसदी विद्यार्थियों की नजर कमजोर पाई गई, इनमें 12.2 फीसदी की आंखें कमजोर पाई गईं, जिन्हें चश्मा लगाने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें : ऐसी जेल जहां अपराधी बन रहे पंडित, रिहा होने के बाद कराएंगे 16 संस्कार

चश्मा लगाने की जरूरत है

शहर के शासकीय नेहरू महाविद्यालय में लॉयंस क्लब द्वारा नेत्र चिकित्सालय की टीम के माध्यम से नेत्र परीक्षण शिविर लगाया गया। इसमें 196 छात्र-छात्राओं व कॉलेज स्टाफ की आंखों की जांच हुई। जांच में छात्रों में चार परिजन भी शामिल रहे। प्राचार्य डॉ. रेणु राजेश के मुताबिक जांच में 68 छात्रों की नजर कमजोर पाई गई और 24 छात्र-छात्राओं की नजर ज्यादा कमजोर रही, जिन्हें चश्मा लगाने की जरूरत है। कमजोर नेत्र ज्योति के बारे में भी छात्रों को जागरुक किया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

अमृतसर से ISI के दो जासूस गिरफ्तार, पाकिस्तान भेजते थे भारतीय सेना से जुड़ी खुफिया जानकारीहरियाणा के झज्जर में फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 3 की मौत 11 घायलभाजपा राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक : आज जयपुर आएंगे राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, एयरपोर्ट से कूकस तक 75 स्वागत द्वार तैयारBharatpur Road Accident: भीषण सड़क हादसे में 5 लोगों की मौत, मचा हाहाकारLPG Price Hike Today: घरेलू गैस की कीमत 3.50 रुपए बढ़े, कमर्शियल सिलेंडर पर 8 रुपए का इजाफाIPL के इतिहास में पहली बार होगा ऐसा, इन टीमों के बिना खेला जाएगा प्लेऑफपोर्नोग्राफी मामले में व्यवसायी राज कुंद्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का भी मामला दर्जज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोले
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.