इंडोनेशिया में भूकंप और सुनामी से अब तक 2010 की मौत, 671 लोग लापता

भूकंप और सुनामी से मरने वालों की संख्या बढ़कर मंगलवार को 2010 हो गई। जबकि 671 लोग लापता हैं।

By:

Updated: 09 Oct 2018, 07:21 PM IST

जकार्ताः इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप में 28 सितम्बर को आए 7.5 तीव्रता के भूकंप और इसके बाद सुनामी से मरने वालों की संख्या बढ़कर मंगलवार को 2010 हो गई। इंडोनेशियाई प्रशासन ने यह जानकारी दी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आधिकारिक रूप से 671 लोग लापता हैं और इस बात की आशंका है कि अभी भी पांच हजार लोग मलबे में दबे हुए हैं। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुरवो नुग्रोहो ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, "इससे सबसे ज्यादा प्रभावित केंद्रीय सुलावेसी प्रांत की राजधानी पालू हुई है जहां 1,601 लोगों की मौत हुई है।" इसके अतिरिक्त प्रांत के सीगी में 222, डोंगाला में171 और परीगी माउंटोंग में 15 लोगों की मौत हुई।

82,775 लोग हुए विस्थापित
सुतोपो ने कहा कि 10,679 लोग घायल हुए हैं जिनमें 2,549 लोग गंभीर रूप से घायल हैं। 82,775 लोग विस्थापित होकर सैकड़ों राहत शिविरों में रह रहे हैं। आधे से ज्यादा मृतकों को सामूहिक कब्रों में दफन कर दिया गया जबकि अन्य को उनके परिजनों ने दफन किया। प्रभावित क्षेत्र में 90 फीसदी विद्युत आपूर्ति सुचारू रूप से चालू कर दी गई है। बता दें कि, देश में 2004 में आई सुनामी के बाद सुलावेसी में आया भूकंप और सुनामी सबसे प्रलयकारी साबित हुए हैं। 2004 में आई सुनामी में 1,67,000 लोगों की मौत हो गई थी।

इंडोनेशिया को आर्थिक मदद
इंडोनेशिया में भूकंप से आयी तबाही के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मदद की जा रही है। भारत के बाद अब एशियन डेवलपमेंट बैंक ने सोमवार को प्रभावित क्षेत्र के लिए तत्काल तीस लाख डॉलर की राहत राशि मदद के तौर पर जारी किया है। इससे पहले पोप फ्रांसिस ने भूकंप और सुनामी से प्रभावित लोगों की मदद के लिए 100,000 डॉलर की राशि दी थी। उधर, | इंडोनेशिया के अधिकारियों ने आपदा की पुरानी तस्वीरों के साथ एक अन्य भूकंप के बारे में जारी की गई ऑनलाइन फर्जी रपटों के मामले में लोगों से शांति बनाए रखने का आग्रह किया है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned