कराची में 53 संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार

Rahul Chauhan

Publish: Sep, 11 2017 04:20:00 (IST)

Asia
कराची में 53 संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार

पुलिस और प्रवर्तन अधिकारियों ने कराची के विभिन्न इलाकों में आतंकवादी समूहों और अपराधियों की मौजूदगी के बारे में जानकारी मिलने के बाद यह कार्रवाई की।

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के दक्षिणी बंदरगाह के शहर कराची के विभिन्न हिस्सों में पिछले 24 घंटों के दौरान छापेमारी में पुलिस ने 53 संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने देर रविवार यह जानकारी दी। एक समाचार एजेंसी ने पुलिस के हवाले से कहा कि इस अभियान में एक संदिग्ध मारा गया।

कराची के पुलिस अधीक्षक अदील चांदियो ने कहा कि पुलिस और कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने कराची के विभिन्न इलाकों में विभिन्न आतंकवादी समूहों और अपराधियों की मौजूदगी के बारे में खुफिया जानकारी मिलने के बाद कार्रवाई की। विवरण के अनुसार, महानगर के दराक्षण इलाके में छापेमारी के दौरान तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया गया।

पुलिस और सुरक्षाकर्मियों ने लयारी इलाके को घेर लिया, जो मादक पदार्थो के कारोबारियों, लुटेरों और आतंकवादियों का गढ़ माना जाता रहा है। पुलिस और सुरक्षाकर्मियों ने इस अभियान में 50 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है।

हालांकि, शहर के चाकीवाड़ा इलाके में छापेमारी के दौरान, गिरफ्तारी से बचने के लिए कुछ अज्ञात संदिग्धों ने पुलिस दल पर गोली चलाई। इस दौरान एक संदिग्ध मारा गया, जबकि उसके साथी फरार हो गए। पुलिस ने कहा कि गिरफ्तार किए गए संदिग्ध शहर में कई आतंकवादी और आपराधिक घटनाओं में शामिल थे।

पाकिस्तानी विदेश मंत्री ईरान दौरे पर रवाना
पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ अपने क्षेत्रीय दौरे के दूसरे चरण में सोमवार को पड़ोसी देश ईरान के दौरे पर रवाना हो गए।

यह दौरा अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अफगानिस्तान और दक्षिण एशिया के संबंध में नई रणनीति के संभावित नकारात्मक नतीजों की भरपाई करने के लिए पाकिस्तान की कूटनीतिक रणनीति का हिस्सा है।

विदेश कार्यालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने कहा कि विदेश मंत्री इस यात्रा के दौरान ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी से मुलाकात करेंगे और अपने समकक्ष जावेद जरीफ से औपचारिक वार्ता करेंगे।

यह दौरा अफगानिस्तान व दक्षिण एशिया को लेकर ट्रंप की नई रणनीति के मद्देनजर पाकिस्तान का महत्वपूर्ण क्षेत्रीय देशों का समर्थन हासिल करने का प्रयास है। ईरान उन देशों में से है, जिसने पाकिस्तान के खिलाफ ट्रंप के बयान की निंदा की है। अफगानिस्तान के मुद्दे पर दोनों (ईरान व पाकिस्तान) देशों का रुख समान नजर आ रहा है।

ईरान और सऊदी अरब के बीच संबंधों में सुधार आने से पाकिस्तान को इस दौरे से सकारात्मक नतीजा निकलने की उम्मीद है। विदेश मंत्री ने इससे पहले शुक्रवार को चीन का दौरा किया था और उसका समर्थन हासिल करने में सफल रहे थे। चीन ने दुनिया से आतकंवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान के योगदान को सराहने का आग्रह किया है।

ट्रंप ने 21 अगस्त को अपने भाषण में अफगानिस्तान में गतिरोध समाप्त करने के लिए वहां सैनिकों की संख्या बढ़ाने की घोषणा की थी। अमरीकी राष्ट्रपति ने साथ ही पाकिस्तान को अराजकता, आतंकवाद और हिंसा को बढ़ावा देने वाला एजेंट बताते हुए उसकी निंदा की थी।

इस बयान की भरपाई के तौर पर पाकिस्तान में अमरीकी राजदूत डेविल हैले ने जोर देते हुए कहा था कि अफगानिस्तान में विफलता के लिए ट्रंप ने पाकिस्तान पर आरोप नहीं लगाया। अमरीकी राजदूत ने कहा कि अफगानिस्तान में शांति व स्थिरता लाने में पाकिस्तान महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned