डोकलाम के बाद भी बाज नहीं आया चीन, अरुणाचल प्रदेश में की 1 किमी तक घुसपैठ

Kapil Tiwari

Publish: Jan, 03 2018 03:13:10 PM (IST) | Updated: Jan, 04 2018 10:19:31 AM (IST)

एशिया
डोकलाम के बाद भी बाज नहीं आया चीन, अरुणाचल प्रदेश में की 1 किमी तक घुसपैठ

चीनी सेना ने अरूणाचल प्रदेश के सियांग जिले में बिशिंग सीमा के नजदीक करीब 1 किलोमीटर तक दखल दिया है।

गुवाहटी: भारत और चीन के बीच डोकलाम विवाद सुलझने के बाद कई दिनों तक तो चीन शांत रहा, लेकिन अब उसने वहीं पुरानी हरकत शुरू कर दी है। दरअसल, मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, चीनी सेना ने अरूणाचल प्रदेश के सियांग जिले में बिशिंग सीमा के नजदीक घुसपैठ की है। बताया जा रहा है कि चीनी सैनिक करीब 1 किलोमीटर तक हिंदुस्तान की सीमा में दाखिल हो गए थे। ये घुसपैठ एक सप्ताह पहले की बताई जा रही है। हालांकि मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी कर रहे जवानों ने चीनी सैनिकों को वहां से खदेड़ दिया। बताया जा रहा है कि चीनी सैनिक अपने साथ सड़क निर्माण का सामान लेकर भारत की सीमा में घुसे थे, लेकिन भारतीय सैनिकों ने उन्हें खदेड़ दिया तो वो सब सामान छोड़कर ही वहां से भाग खड़े हुए।

घुसपैठ के समय हो दोनों देशों के बीच हो रही थी NSA वार्ता
चीनी जवान सीमा से लगते एक गांव के पास तक पहुंच गए थे। डोकलाम में टकराव की स्थिति के बाद दोनों पड़ोसी देशों के बीच पैदा तनाव अभी पूरी तरह से खत्म भी नहीं हुआ कि चीन की ओर से एक और उकसाने वाली हरकत सामने आई है। ये घुसपैठ दिसंबर के आखिरी सप्ताह की बताई जा रही है। हैरानी वाली बात ये है कि जिस वक्त चीनी सेना अरुणाचल प्रदेश में घुसपैठ कर रही थी, उस वक्त दोनों देशों के बीच विशेष प्रतिनिधि स्तर की वार्ता हो रही थी। भारत की ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीन की ओर से पोलित ब्यूरो के सदस्य यांग जेईची इसमें हिस्सा ले रहे थे।

भारतीय सैनिकों ने खदेड़ते हुए समान जब्त किया
खबरों के मुताबिक, चीनी सैनिकों के भारत की सीमा में घुस आने की जानकारी उसी इलाके के गांववालों ने दी थी। गांववालों ने आईटीबीपी और भारतीय सेना को बताया था कि चीनी सैनिक सड़क निर्माण सामग्री के साथ भारत की सीमा में घुस रहे हैं।

स्थानीय लोगों ने बताया कि चीनी जवान बिसिंग गांव (टूटिंग क्षेत्र) के समीप शियांग नदी के पूर्वी किनारे तक आ गए थे। वहां तैनात भारतीय जवानों ने उन्हें रोकते हुए उनका सामान जब्त कर लिया था।

घुसपैठ की नहीं आई है कोई आधिकारिक जानकारी
हालांकि ऊपरी शियांग जिले के उपायुक्त डुली कामडुक ने चीनी घुसपैठ की घटना से इनकार किया है। उन्होंने बताया कि टूटिंग में मौजूद अधिकारियों ने चीनी जवानों के भारतीय क्षेत्र में घुसने की जानकारी नहीं दी है। साथ ही सशस्त्र बलों की ओर से भी ऐसी कोई सूचना नहीं दी गई है। सेना के प्रवक्ता ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। वहीं चीन ने भी इस घुसपैठ की जानकारी होने से इनकार किया है। चीनी मीडिया में चल रही खबरों की मानें तो चीन का यही मानना है कि उसे इस घुसपैठ की जानकारी नहीं थी। चीनी विदेश मंत्रालय की तरफ से दिए गए बयान में कहा गया है कि भारत के साथ सीमा विवाद पर चीन का रूख साफ और स्पष्ट है, फिलाहल अरूणाचल के मामले की जानकारी नहीं है।

आपसी रजामंदी से सुलझा था 73 दिनों तक चला डोकलाम विवाद
आपको बता दें कि भारत और चीन के जवान पिछले साल सिक्किम सेक्टर के डोकलाम में आमने-सामने आ गए थे। 73 दिनों की तनातनी के बाद 28 अगस्त को दोनों देशों की रजामंदी से ये विवाद सुलझा था। इसके चार महीने बाद अरुणाचल में चीन द्वारा घुसपैठ करने का मामला सामने आया है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned