अमरीका को चीन की दो-टूक, कहा- ‘हांगकांग, ताइवान में अलगावादियों का समर्थन बंद करे’

  • चीन ने बाइडन प्रशासन से ताइवान, तिब्बत, हांगकांग और शिनजियांग में अलगाववादी ताकतों पर रोक लगाने को कहा है
  • वांग ने कहा, 'हम ना तो अमेरिका को चुनौती देना चाहते हैं और ना ही उसका स्थान लेना चाहते हैं

By: Vivhav Shukla

Published: 22 Feb 2021, 03:58 PM IST

नई दिल्ली। पिछले कुछ सालों से अमरीका और चीन के रिश्ते काफी बिगड़ गए हैं।हालात इतने आगे बढ़ गए हैं कि दोनों मुल्क खुलेआम एक दूसरे लेकर बयानबाजी करते रहे हैं। हाल ही में चीन ने एक बार फिर से अमरीका को आंखें दिखाई है। दरअसल, चीन (China) ने अमरीका (America) को उसके आंतरिक मामलों में दखलअंदाजी ना करने के लिए कहा है। चीन सरकार ने अमरीका पर आरोप लगाया है कि वो सत्तारूढ़ चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (CPC) बदनाम करना कर रही है।

Myanmar: तख्‍तापलट के बाद सबसे बड़ी हिंसा, प्रदर्शनकारियों पर फायरिंग में दो की मौत, 20 घायल

चीन ने कहा है कि अमरीका को ये सब फौरन रोक देना चाहिए साथ ही वाशिंगटन से कारोबार और लोगों के बीच संपर्क पर रोक हटाने के लिए कहा है।चीन ने बाइडन प्रशासन से ताइवान, तिब्बत, हांगकांग और शिनजियांग में अलगाववादी ताकतों पर रोक लगाने को के लिए भी कहा है।

विदेश मंत्रालय के एक मंच से अमेरिका-चीन संबंधों पर वांग का यह बयान ऐसे वक्त में आया है जब चीन अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन पर उनके पूर्ववर्ती डोनाल्ड ट्रंप द्वारा उठाए गए टकराव पैदा करने वाले कदमों को वापस लेने का दबाव बना रहा है। विदेश मंत्री वांग यी (Wang Yi) ने बाइडेन प्रशासन से पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की सभी नीतियों पर विचार करने के लिए भी कहा है, जिसे उन्होंने चीन के बढ़ते प्रभाव पर लगाम लगाने के लिए उठाया था।

चीन-अमेरिका संबंध के विषय पर आयोजित वार्षिक ‘लैंटिंग फोरम’ में वांग ने कहा, ‘हमारी मंशा अमेरिका को चुनौती देने या उसे हटाने की नहीं है। हम शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व के लिए तैयार हैं और अमेरिका के साथ साझा विकास चाहते हैं। और हमें उम्मीद है कि अमरीका चीन के बुनियादी हितों, राष्ट्रीय प्रतिष्ठा और विकास के अधिकार का सम्मान करेगा।’

वांग ने आगे कहा, अमेरिका से हम साफ शब्दों में कहना चाहते हैं कि वो ‘ताइवान की आजादी’ की मांग करने वाले अलगाववादी ताकतों का समर्थन नहीं करें। ये हमारा आंतरिक मामला है और हम इससे निपट लेंगें। इसके अलावा वांग ने अमेरिका से चीनी मालों पर बिना वजह लगाये गये कर और एकतरफा प्रतिबंधों को हटाने के लिए भी कहा है।

Kim Jong Un की पत्नी एक साल बाद आईं नजर, रहस्यमय ढंग से हो गईं थीं लापता

बता दें विदेश मंत्री वांग यी का यह बयान ऐसे वक्त में आया है जब चीन अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन पर उनके पूर्ववर्ती डोनाल्ड ट्रंप द्वारा उठाए गए टकराव पैदा करने वाले कदमों को वापस लेने का दबाव बना रहा है। चीन हर हाल में अमरीका से रिश्ते सुधारना चाहता है।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned