Hong Kong में कोरोना टेस्ट के नाम पर DNA रिकॉर्ड जमा कर रहा है चीन?

HIGHLIGHTS

  • China Conducting Mass Corona Testing Programme in Hong Kong: हांगकांग पर पूर्ण रूप से नियंत्रण की साजिश कर रहा चीन हांगकांग में स्वैच्छिक तरीके से बड़े पैमाने पर कोरोना की टेस्टिंग कराना चाहता है। लेकिन वहां के कई नेता और लोग इसका कड़ा विरोध कर रहे हैं।
  • चीन पर आरोप लगाया जा रहा है कि कोरोना टेस्ट के नाम पर चीनी अधिकारी हांगकांग के लोगों के डीएनए का रिकॉर्ड अपने पास जमा कर लेंगे।

By: Anil Kumar

Updated: 02 Sep 2020, 08:04 PM IST

बीजिंग। कोरोना वायरस महामारी से पूरी दुनिया जूझ रही है और इससे बचाव के तमाम कोशिशें की जा रही है। कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए जोर-शोर से टेस्टिंग किया जा रहा है। चीन के वुहान से फैलना शुरू हुए इस वायरस को लेकर दुनियाभर से लगातार झूठ बोलने वाले चीन पर एक बड़ा आरोप लगा है।

दरअसल, हांगकांग पर पूर्ण रूप से नियंत्रण की साजिश कर रहा चीन हांगकांग में स्वैच्छिक तरीके से बड़े पैमाने पर कोरोना की टेस्टिंग ( Corona Testing ) कराना चाहता है। लेकिन वहां के कई नेता और लोग इसका कड़ा विरोध कर रहे हैं। चूंकि चीन पर आरोप लगाया जा रहा है कि कोरोना टेस्ट के नाम पर चीनी अधिकारी हांगकांग के लोगों के डीएनए का रिकॉर्ड अपने पास जमा कर लेंगे।

Germany ने Hong Kong के साथ प्रत्यर्पण संधि किया निलंबित, China ने बताया घरेलू मामलों में हस्तक्षेप

हालांकि चीन ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है। चीन का कहना है कि टेस्टिंग प्रक्रिया स्वैच्छिक है। इस टेस्टिंग के जरिए वो किसी का भी निजी डाटा अपने पास रिकॉर्ड में नहीं रखेंगे। बता दें कि चीन चीन एक बड़ी योजना के तहत हांगकांग में व्यापक स्तर पर कोरोना की टेस्टिंग करवा रहा है।

हांगकांग के लोकतंत्र समर्थक नेताओं ने किया विरोध

आपको बता दें कि हांगकांग में चीन के दखल का विरोध करने वाले लोकंतत्र समर्थकों ने कोरोनो टेस्टिंग का विरोध किया है। लोकतंत्र समर्थक नेताओं ने टेस्टिंग का बहिष्कार करते हुए लोगों से टेस्ट ना कराने की अपील की है। एक नेता जोशुआ वॉन्ग ने कहा कि सरकार एक साजिश के तहत हांगकांग के लोगों का DNA अपने पास जमा कर रही है। जबकि एक अन्य नेता ने कहा है कि सरकार यह बात स्पष्ट तरीके से नहीं बता रही है कि वह आखिर किस तरह लोगों का डाटा जमा करेगी।

Hong Kong मामले पर Australia और Britain के बाद अब New Zealand ने China को दिया करारा झटका

मालूम हो कि चीन सरकार ने हांगकांग में कोरोना टेस्टिंग के लिए स्थानीय मेडिकल स्टाफ के बजाए चीन के अन्य क्षेत्रों के स्टाफ के लगाया है। इसी को लेकर सवाल खड़े किए जा रहे हैं और लोगों में शंका पैदा हो रहा है। चूंकि इससे पहले चीन ने हांगकांग में लोगों के विरोध के बावजूद भी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को जबरन लागू कर दिया है। इसको लेकर अभी भी हांगकांग में विरोध-प्रदर्शन का सिलसिला जारी है।

बता दें कि चीन ने बीते सप्ताह शनिवार से ही कोरोना टेस्टिंग के लिए रजिस्ट्रेशन की शुरुआत की थी। 75 लाख की आबादी वाले हांगकागं में अब तक 5.53 लाख से अधिक लोगों ने रजिस्ट्रेशन भी करा लिया है। हांगकांग में अभी तक कोरोना के करीब 5 हजार मामले सामने आए हैं और 91 लोगों की मौत हुई है।

China Coronavirus outbreak
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned