चीन ने रचा इतिहास, चांद के अनदेखे हिस्से में उतारा खोजी स्पेसक्राफ्ट

चांग- 4 की मदद से चांद की सतह और वहां पर खनिज के बारे में पता लगाया जाएगा। चीन की इस सफलता को अंतरिक्ष के क्षेत्र में क्रांति माना जा रहा है।

 

 

By: Anil Kumar

Updated: 08 May 2020, 02:17 PM IST

बीजिंग: चीन का अंतरिक्ष यान चांग-4 गुरुवार को चांद के सुदूर क्षेत्र पर उतरने वाला पहला यान बन गया है।चीनी मीडिया के अनुसार, चाइना नेशनल स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ने घोषणा कर बताया कि एक लैंडर और एक रोवर वाला अंतरिक्ष यान सुबह 10.26 बजे (बीजिंग समयनुसार) 177.6 डिग्री पूर्वी देशांतर और 45.5 डिग्री दक्षिण अक्षांश में चांद के अनदेखे हिस्से में उतरा जो पृथ्वी से कभी नजर नहीं आता। चांद के इस हिस्से को अंतरिक्ष वैज्ञानिक डार्क साइड कहते हैं। चीन पिछले काफी लंबे समय से यहां पर अपने खोजी यान को उतारने के मिशन में लगा हुआ था, जो अब जाकर पूरा हुआ। चांग- 4 की मदद से चांद की सतह और वहां पर खनिज के बारे में पता लगाया जाएगा। चीन की इस सफलता को अंतरिक्ष के क्षेत्र में क्रांति माना जा रहा है।

इस वजह से चांद के इस हिस्से को नहीं देख पाते लोग

दरअसल चांद का सिर्फ एक ही हिस्सा पृथ्वी से नजर नहीं आता। इसी वजह जब चांद धरती का चक्कर लगा होता है तो उसी वक्त वह भी अपनी धुरी पर घूम रहा होता है ऐसे में चंद्रमा का दूसरा हिस्सा पृथ्वी के सामने कभी नहीं आ पाता है। बता दें कि चीन ने चांग- 4 को पिछले ही महीने 8 दिसंबर को लॉन्च किया था। इससे पहले चीन साल 2013 में चांग- 3 को लांच किया था जोकि 1976 के बाद चांद पर उतरने वाला पहला स्पेसक्राफ्ट बना था।

 

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned