चीनी सोशल मीडिया साइटों ने PM Modi का भाषण और विदेश मंत्रालय की टिप्पणियों को किया डिलीट

HIGHLIGHTS

  • दो चीनी सोशल मीडिया साइटों ( Chinese social media sites ) से पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण ( Speech of PM Narendra Modi ) और विदेश मंत्रालय के टिप्पणियों को डिलीट कर दिया है।
  • पीएम मोदी के 18 जून के भाषण के साथ-साथ विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता की टिप्पणियों को सिना बीबो ( Sina Weibo ) और वी चैट ( WeChat ) ने अपने अकाउंट से हटा दिया है।

By: Anil Kumar

Updated: 21 Jun 2020, 06:45 AM IST

बीजिंग। पूर्वी लद्दाख सीमा ( Eastern Ladakh Border ) के गलवान घाटी ( Galwan valley ) में भारत-चीन सैनिकों के बीच हुए हिंसक घटना के बाद अब चीन ने एक बड़ा कदम उठाया है। दरअसल, चीन ने अपनी ओछी हरकत का परिचय देते हुए दो चीनी सोशल मीडिया साइटों ( cheenee soshal meediya saiten ) से पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण ( Speech of PM Narendra Modi ) और विदेश मंत्रालय के टिप्पणियों को डिलिट कर दिया है।

बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने बताया कि पीएम मोदी के 18 जून के भाषण के साथ विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता की टिप्पणियों को सिना बीबो ( Sina Weibo ) ने अपने अकाउंट से हटा दिया है। बताया जा रहा है कि गलवान घाटी में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद पीएम मोदी ने चीन को सख्त संदेश दिया था, जिसके मद्देनजर यह कदम उठाया गया है।

वायुसेना प्रमुख आरके एस भदौरिया की चीन को चेतावनी, हर तरह के जवाब के लिए हम तैयार

भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने बताया है कि विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव की टिप्पणियों की प्रतिलिपि 18 जून को साइना वीबो ने दूतावास के अकाउंट से हटा दिया। इसके बाद भारतीय अधिकारियों ने 19 जून को श्रीवास्तव की टिप्पणियों के स्क्रीन शॉट्स को फिर से प्रकाशित किया।

वी चैट ने भी पीएम के भाषण को हटाया

आपको बता दें कि साइना वीबो के अलावा वी चैट ( WeChat ) ने भी पीएम मोदी के भाषण और विदेश मंत्रालय की टिप्पणियों को हटा दिया है। चीन में ट्विटर का उपयोग नहीं किया जाता है। ट्विटर की जगह पर चीन स्वदेश निर्मित साइना वीबो का इस्तेमाल करता है, जो कि ट्विटर की तरह है। बीजिंग में सभी दूतावासों के अलावा प्रधानमंत्री मोदी सहित कई विश्व नेताओं ने चीनी लोगों के साथ बातचीत करने के लिए इसपर अपने अकाउंट खोले हैं।

वी चैट ने विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता की टिप्पणियों को आधिकारिक तौर पर नियमों का उल्लंघन करार देते हुए हटाया है। बता दें कि श्रीवास्तव ने चीन से कहा था कि वह अपनी गतिविधियों को वास्तविक नियंत्रण रेखा के किनारे तक ही सीमित रखे और इसे बदलने के लिए एकतरफा कार्रवाई न करे। वी चैट ने प्रधानमंत्री मोदी की 18 जून की टिप्पणी को डिलीट कर दिया है।

चीन के खिलाफ फूटा गुस्सा, पूर्व सैनिक बोले हम सीमा पर लड़ने को तैयार

दोनों साइटों के पेज यह बता रहा है कि सामग्री लेखक द्वारा हटा दी गई है, लेकिन दूतावास के अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने इसे नहीं हटाया है। बता दें कि पीएम मोदी ने अपने भाषण में चीन को सख्त संदेश दिया था और कहा था कि किसी को भी भ्रम में नहीं रहना चाहिए, हमें अपनी सीमा की सुरक्षा करने से कोई नहीं रोक सकता है।

Prime Minister Narendra Modi
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned