Pakistan में कोरोना वायरस का कहर जारी, मौत की संख्या पहुंची छह हजार के पार

Highlights

  • कोरोना वायरस (Coronavirus) से मरने वालों की संख्या बढ़कर 2,87300 तक पहुंच गई है, देश में बीते 24 घंटे में 626 नए मामले सामने आए।
  • पाकिस्तान (Pakistan) में अब तक 2,65,215 मरीज ठीक हो चुके हैं, देश में कोरोना वायरस के 15,962 मरीजों का इलाज चल रहा है।

By: Mohit Saxena

Updated: 14 Aug 2020, 08:41 PM IST

लाहौर। पाकिस्तान (Pakistan) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले अब तेजी से बढ़ रहे हैं। यहां पर बीते 24 घंटे में 626 नए मामले सामने आ चुके हैं। शुक्रवार को कुल मामलों की संख्या बढ़कर 2,87300 तक पहुंच गई है। पाक के स्वास्थ्य मंत्रायल ने ये जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना से 14 और मरीजों की मौत हो गई। अब तक महामारी से 6,153 लोगों की मौत हो चुकी है।

देश में कोरोना वायरस के 15,962 मरीजों का इलाज चल रहा है। इनमें से 774 की हालत बेहद खराब है। पाकिस्तान में अब तक 2,65,215 मरीज ठीक हो चुके हैं। विभिन्न प्रांतों पर नजर डाली जाए तो सिंध में 1,25,289, पंजाब में 94,993, खैबर पख्तूनख्वा में 35,021, इस्लामाबाद में 15,342,बलूचिस्तान में 12,062, गिलगित बाल्टिस्तान में 2,426 और पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर में 2,167 मामले सामने आ चुके हैं। मंत्रालय के अनुसार अब तक कोविड-19 के 22,29,409 नमूनों की जांच हो चुकी है।

20 करोड़ डोज बनाने की तैयारी

वहीं रूस की कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) को लेकर भारत के साथ कई देश रुचि दिखा रहे हैं। रूसी कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी (Sputnik V ) को यूएई, सऊदी अरब, इंडोनेशिया, फिलीपींस, ब्राजील, मैक्सिको और भारत ने लेने की बात कही है। इसके 20 करोड़ डोज बनाने की तैयारी चल रही है। जिसमें से 3 करोड़ डोज केवल रूसी लोगों के लिए होंगे।

भारत ने भी दिखाई दिलचस्पी

वैक्सीन से जुड़ी वेबसाइट के अनुसार फेज-3 के क्लीनिकल ट्रायल भारत समेत दुनिया के बाकी देशों में किए जाएंगे। इस पर जानकारी दी गई है कि भारतीय कंपनियों ने वैक्सीन के प्रोडक्शन को लेकर अपनी उत्सुकता दिखाई है। हालांकि, अभी तक भारत या भारतीय कंपनियों से जुड़ी कोई जानकारी सामने नहीं आई है। वहीं, इस मामले में विशेषज्ञों का कहना है कि पहले यहां के डॉक्टरों को स्पष्ट करना होगा की कि वैक्सीन सुरक्षित है की नहीं। गौरतलब है कि भारत में अभी स्वदेशी वैक्सीन का ट्रायल जारी है। इसके साथ ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन पर भी परीक्षण जारी है। ऐसा माना जा रहा है कि सीमित संख्या में इसे सितंबर तक मंगाया जा सकता है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned