कोरोना वायरस का एक मामला आने के बाद सतर्क नेपाल, पड़ोसी देशों की सीमाओं को किया सील

Highlights

  • यह आदेश सोमवार सुबह 10 बजे लागू हो गया।
  • भारत और चीन की सीमाओं को पूरी तरह से सील किया।
  • गैर-जरूरी सेवाओं को 23 मार्च से 3 अप्रैल तक के लिए रोक दिया है।

Mohit Saxena

23 Mar 2020, 06:19 PM IST

काठमांडू। नेपाल (Nepal) में कोरोना वायरस (coronavirus) का अभी तक सिर्फ एक मामला ही सामने आया है। मगर यहां की सरकार ने एहतियात के तौर पर भारत और चीन से जुड़ी सीमाओं को सील करने का फैसला लिया है। यह आदेश सोमवार सुबह 10 बजे लागू हो गया। राज्य की सरकार ने रविवार देर शाम कैबिनेट की बैठक में यह फैसला किया। नेपाल से भारत के उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, सिक्किम, पश्चिम बंगाल और बिहार राज्यों की सीमाएं सटी हैं।

Coronavirus: WHO का दावा, सिर्फ लॉकडाउन से संक्रमण पर नियंत्रण संभव नहीं

पहले ही उठाए कदम

नेपाल में अभी तक कोरोना वायरस से एक शख्स का मामला ही पॉजिटिव पाया गया है। मगर सरकार इस में कोई लापरवाही नहीं बरतना चाहती है। नेपाल में आंशिक बंदी करते हुए अंतरराष्ट्रीय उड़ानों, लंबी दूरी के यातायात पर रोक लगा दी गई है। एजुकेशनल इंस्टिट्यूट्स को भी बंद कर दिया गया है। नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार ने निजी और सार्वजनिक क्षेत्र की गैर-जरूरी सेवाओं को 23 मार्च से 3 अप्रैल तक के लिए रोक दिया है।

घर से हो काम

इससे पहले नेपाल पीएम केपी शर्मा ने कहा था कि कोई संक्रमित देश में दाखिल न हो सके इसके लिए स्वास्थ्य डेस्क स्थापित की जाएगी। पड़ोसी देशों से इस मामले में साथ लिया जाएगा। उन्होंने कहा था कि सरकार निजी क्षेत्र में घर से काम को प्रोत्साहित करेगी। प्रधानमंत्री ने कालाबाजारी, जमाखोरी और क्रत्रिम तरह से बाजार में सामान की किल्लत पैदा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का ऐलान किया है। हालांकि बाद में एक बैठक के बाद सरकार को सीमाओं को सील करने का फैसला करना पड़ा।

coronavirus
Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned