जापान: भूकंप में मृतकों की संख्या बढ़कर 21 हुई, लापता लोगों की तलाश जारी

जापान: भूकंप में मृतकों की संख्या बढ़कर 21 हुई, लापता लोगों की तलाश जारी

Siddharth Priyadarshi | Publish: Sep, 08 2018 12:56:52 PM (IST) एशिया

इस भूकंप की तीव्रता रिएक्टर पैमाने पर 6.7 थी।

टोक्यो। जापान के होकैडो में आए भूकंप के चलते विभिन्न हादसों में मृतकों की संख्या बढ़कर 21 हो गई है जबकि बहुत से लोग अब भी लापता बताये जा रहे हैं। जापान सरकार ने शनिवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि राहत और बचाव कार्य युद्ध स्तर पर चलाए जा रहे हैं। गुरुवार को जापान में आये इस भूकंप की तीव्रता रिएक्टर पैमाने पर 6.7 थी। मुख्य कैबिनेट सचिव योशिहीदे सुगा ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पुलिस, अग्निशमन विभाग, सेल्फ डिफेंस फोर्स कर्मियों और जापान कोस्ट गार्ड के कुल 40,000 कर्मचारी लापता लोगों की तलाश कर रहे हैं। आपदा प्रभावित इलाकों का अब भी जायजा लिया जा रहा है।

ईराक: प्रदर्शनकारियों ने लगाई ईरानी वाणिज्य दूतावास में आग, बाल-बाल बचे कर्मचारी

जारी हैं राहत और बचाव कार्य

होकैडो में गुरुवार को शक्तिशाली भूकंप के बाद जापान में बड़े पैमाने पर तबाही हुई है। करीब 29.5 लाख घरों से बिजली गुल हो गई। हालांकि ज्यादातर क्षेत्रों में बिजली बहाल हो गई है, लेकिन अनुमान है कि लगभग 20,000 परिवार अभी भी बिजली के बिना हैं। शनिवार सुबह तक होकैडो में लगभग 30,000 परिवारों को अभी भी जल की आपूर्ति नहीं की जा सकी है। होकैडो में करीब 12,000 लोग अभी भी 430 आपातकालीन आश्रयों में रह रहे हैं। मुख्य हवाईअड्डे पर शुक्रवार से परिचालन शुरू हो गया। ट्रेन सेवाएं भी इस सप्ताह के अंत से शुरू कर दी जाएंगी

भारत को घेरने के लिए चीन की नई चाल, नेपाल को लैंड पोर्ट और बंदरगाह इस्तेमाल करने की अनुमति

बता दें कि जापान के होकैडो प्रांत में गुरुवार को रिक्टर पैमाने पर 6.7 तीव्रता के भूकंप के झटके आये थे। भूकंप का केंद्र होकैडो द्वीप के उत्तर में 40 किलोमीटर की गहराई पर स्थित था। भूंकप के कारण हुए भूस्खलन से बहुत से घर जमींदोज हो गए।भूकंप के बाद कई छोटे झटके (ऑफ्टर शॉक) भी महसूस किए गए। इसमें तीन घंटे बाद 5.4 तीव्रता का झटका महसूस किया गया। भूकंप प्रभावित इलाकों में बहुत से घर ढह गए हैं। इसके अलावा भूस्खलन से कई इलाकों में सड़कें और रेल लाइने धंस गई हैं। शुरुआत में इन झटकों से होने वाले नुक्सान को कम आंका गया था लेकिन समय बीतने के साथ भूकंप से होने वाली तबाही की भयावह तस्वीरें सामने आ रही हैं।

Ad Block is Banned