पाकिस्तानी मंत्री फवाद इस बार बुरे फंसे, कहा- सभी फिदायीन हमलावर मदरसों के छात्र

पाकिस्तानी मंत्री फवाद इस बार बुरे फंसे, कहा- सभी फिदायीन हमलावर मदरसों के छात्र

Mohit Saxena | Updated: 11 Sep 2019, 10:07:53 PM (IST) एशिया

  • पाक के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन सोशल मीडिया पर हुए ट्रोल
  • मंत्री ने इसे कड़वी सच्चाई बताया, इससे पहले भी कई बार विवादित बयान दिए

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में विवादित बयानों के लिए मशहूर विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन सोशल मीडिया पर एक बार फिर ट्रोल हो रहे हैं। उनके विवादित बयान को लेकर उन्हें घेरा जा रहा है। फवाद ने एक ट्वीट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह सच है कि मदरसों में पढ़ने वाले सभी छात्र आत्मघाती हमलावर नहीं होते, लेकिन यह एक कड़वी सच्चाई है कि सभी आत्मघाती हमलावर मदरसों के छात्र होते हैं।

कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान का नया पैंतरा, कश्मीरियों को बरगलाने PoK में रैली करेंगे इमरान खान

 

इससे पहले मंगलवार को एक ट्वीट में उन्होंने लिखा था कि,'कमेंटेटर्स ने मुझे बताया है कि भारत ने श्रीलंकाई खिलाड़ियों को धमकी दी है कि अगर उन्होंने पाकिस्तान दौरे से इनकार नहीं किया तो उन्हें आईपीएल से बाहर कर दिया जाएगा।' इस पर खुद श्रीलंका के खेल मंत्री हरिन फर्नांडो ने हुसैन का दावा झूठा बताया। उन्होंने कहा कि 2009 में हमारे खिलाड़ियों पर पाकिस्तान में जो हमला हुआ था, उसकी वजह से कुछ खिलाड़ियों ने दौरे पर जाने से इनकार कर दिया है।

चंद्रयान-2 की विफलता पर कसा था तंज

फवाद ने चंद्रयान-2 की विफलता पर तंज कसने में जरा भी समय नहीं लिया था। चौधरी ने चंद्रयान-2 को महज एक खिलौना करार देते हुए ट्वीट किया, 'जो काम आता नहीं है उससे पंगा नहीं लेते डियर इंडिया'। इसे लेकर भारत समेत दुनिया भर में मौजूद हिंदुस्तानियों ने चौधरी की जमकर क्लास लगाई थी।

अनुच्छेद 370 पर बौखलाए थे

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 खत्म करने के बाद भी फवाद ने जमकर आग उगली थी। उस वक्त उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान को भारत के साथ राजनयिक संबंध खत्म कर लेने चाहिए। पाकिस्तान की संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए फवाद ने कहा था कि पाकिस्तान को जंग से नहीं डरना चाहिए, क्योंकि सम्मान सबसे ज्यादा जरूरी होता है।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned