बांग्लादेश में बाढ़ का कहर: अब तक 114 लोगों की मौत, 4 लाख से अधिक लोग प्रभावित

बांग्लादेश में बाढ़ का कहर: अब तक 114 लोगों की मौत, 4 लाख से अधिक लोग प्रभावित

Anil Kumar | Updated: 26 Jul 2019, 09:05:41 PM (IST) एशिया

  • Flood in Bangladesh: बांग्लादेश में बाढ़ पीड़ितों के लिए 1 हजार अस्थाई शिविर तैयार किए गए हैें
  • बांग्लादेश में 4 लाख लोग बाढ़ के कारण प्रभावित हुए हैं

ढाका। दक्षिण एशियाई देशों में मानसून ( monsoon ) के कारण भारी बारिश और फिर बाढ़ के कारण लाखों लोग प्रभावित हुए हैं। बाढ़ की वजह से सैंकड़ों की जान चली गई। भारत समेत बांग्लादेश, नेपाल आदि देशों में भी बाढ़ से लोग परेशान हैं।

अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि बांग्लादेश में मानसून के तूफान से मरने वालों की संख्या 100 से ऊपर बढ़ गई है, जबकि नदियों में बढ़ते जलस्तर के कारण अभी भी देश के कई हिस्सों में बाढ़ का पानी बढ़ता ही जा रहा है।

अधिकारियों ने बताया कि बीते तीन दिनों में 30 लोगों की मौत हो चुकी है और मरने वालों की संख्या बढ़कर 114 हो चुकी है। यह मानसून कई वर्षों में देश के सबसे खराब मानसून में से एक है। अधिकांश पीड़ित बाढ़ में डूब गए हैं, जबकि कुछ भूस्खलन, सांप के काटने और बिजली के कारण मारे गए हैं।

असम में बाढ़: 2400 करोड़ की झोपड़ियां और करोड़ों के मवेशी, 22 लाख परिवार बर्बाद

जिला प्रशासन के अधिकारी अहमद कबीर ने गुरुवार को बताया कि छह से 18 साल के उम्र की पांच लड़कियां नदी में डूब गईं जब उनकी नाव उत्तरी जिले जमालपुर में बाढ़ की चपेट में आ गई।

बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित बोगरा जिले के एक अधिकारी रायहाना इस्लाम ने बताया कि सरकार की ओर से राहत बचाव के कार्य किए जा रहे हैं। अभी तक बाढ़ पीड़ितों के लिए एक हजार अस्थायी शिविर तैयार किए जा चुके हैं।

बांग्लादेश में बाढ़

बाढ़ से लाखों लोग प्रभावित

अधिकारियों ने बताया कि ब्रह्मपुत्र नदी , जो हिमालय से बहती है, 10 जुलाई से नाटकीय रूप से जलस्तर बढ़ रहा है और 1.2 मिलियन लोगों को जमालपुर में घरों के बिना या बाढ़ से प्रभावित हुए छोड़ दिया गया है।

1975 के बाद से पिछले सप्ताह ब्रह्मपुत्र नदी में जलस्तर अपने उच्चतम स्तर पर थी। जिला प्रशासक मिजानुर रहमान ने कहा कि म्मेनसिंह जिले के छह गाँवों में पानी भर गया और तटबंध टूटने से 2,000 लोगों को अपना घर छोड़कर भागना पड़ा।

अधिकारियों के अनुसार, 10 जुलाई से अबतक पांच मिलियन लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। कई सौ हजार लोग अपने घरों से निकलने को मजबूर हुए हैं। राज्य में बाढ़ की भविष्यवाणी और चेतावनी केंद्र ने कहा कि देश के 64 जिलों में से कम से कम 26 जिले बाढ़ की चपेट में है। ये 26 जिले देश के एक तिहाई हिस्से को कवर करते हैं।

नेपाल में लगातार बारिश से आई बाढ़ और भूस्खलन से अब तक 65 लोगों की मौत

अधिकारियों ने कहा शनिवार तक कई जिलों में जल स्तर ऊंचा रहेगा। हालांकि, अन्य जिलों में बाढ़ घट रही है। जून-सितंबर में मानसून के दौरान बांग्लादेश में नियमित रूप से बाढ़ आती है क्योंकि बंगाल की खाड़ी में आकर मिलने वाली सैकड़ों नदियां में जलस्तर बढ़ जाता है।

बता दें कि इससे पहले 1998 में बांग्लादेश में सबसे भीषण बाढ़ आई थी। उस दौरान लगभग 70 प्रतिशत देश पानी में डूब गया। इस बाढ़ में एक हजार से अधिक लोग मारे गए थे और 30 मिलियन लोग प्रभावित हुए थे।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned