हांगकांग: लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शन में भड़की हिंसा, 36 गिरफ्तार

हांगकांग: लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शन में भड़की हिंसा, 36 गिरफ्तार

Shweta Singh | Updated: 26 Aug 2019, 12:38:08 PM (IST) एशिया

  • हांगकांग में 12वें वीकेंड के दौरान भी जारी रही हिंसा
  • पुलिस ने अलग-अलग आरोपों के तहत 36 को किया गिरफ्तार

हांगकांग। विवादित प्रत्यर्पण को लेकर हांगकांग में जारी बवाल थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। रविवार को लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए 36 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बिल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसा में तब्दील होने के बाद यह कार्रवाई की गई। जानकारी के मुताबिक रविवार रात को प्रदर्शनकारियों ने पुलिस अधिकारियों पर लाठी और लोहे की छड़ों से हमले किया।

प्रदर्शन के हिंसा में बदलने के बाद पुलिस ने गिरफ्तारी की। अधिकारियों ने रविवार को इस बारे में जानकारी दी।

लोगों पर लगे ये आरोप

बिल को लेकर लगातार 12वें सप्ताहांत भी प्रदर्शन जारी रहा। प्रदर्शनकारी लोकतंत्र समर्थक आंदोलन के जरिए बीजिंग समर्थक सरकार को निशाना बना रहे हैं। इसके चलते आए दिन प्रदर्शनों के उग्र होकर हिंसा में तब्दील होने की खबर आ रही है। रविवार को हुई हिंसा पर के बाद पुलिस ने एक बयान जारी किया। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों पर गैरकानूनी रूप से एकत्र होने, हथियार रखने व पुलिस अधिकारियों पर हमला करने का आरोप है।

बता दें कि इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को अलग करने के लिए पहले चेतावनी के तौर पर झंडे दिखाए। हालात को काबू में न आता देख उन्होंने आंसू गैस के गोले छोड़े।

hong_kong_protest_25aug19.jpg

आयोजनकर्ता भी गिरफ्तार

पुलिस ने बताया, 'कुछ कट्टरपंथी प्रदर्शनकारी तय रास्ते से हट गए और सड़कें बाधित की, लैंप पोस्ट को नुकसान पहुंचाया और पुलिस अधिकारियों पर हमला किया। पुलिस प्रदर्शनकारियों के व्यवहार की कड़ी निंदा करती है।' बता दें कि हिरासत में लिए गए लोगों में वीनस लाऊ शामिल हैं। लाऊ, जुलूस के आयोजनकर्ताओं में से एक हैं, जिसे पुलिस ने इजाजत दी थी।

हिंसा में कई लोग घायल भी

वीनस को गैरकानूनी रूप से एकत्र होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उनके वकील ने मीडिया को यह जानकारी दी है। वहीं, इस हिंसा में कई लोग घायल भी हुए हैं। शहर के अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में कम से कम 10 लोगों का इलाज चल रहा है, इसमें से दो की हालत गंभीर बताई जा रही है।

क्या है विवाद?

गौरतलब है कि हांगकांग में पिछले तीन महीनों से प्रदर्शनकारी सरकार के खिलाफ सड़कों पर हैं। इस बिल में प्रस्तावित प्रावधान है कि हांगकांग के संदिग्धों और आरोपियों को मुख्यभूमि चीन में प्रत्यर्पित कर दिया जाएगा। प्रदर्शनकारियों ने इस हांगकांग और उसके कानून व्यवस्था पर खतरा बताते हुए प्रदर्शन शुरू किया। आक्रोश बढ़ते देख हांगकांग की नेता ने इसे खारिज कर दिया।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned