इमरान खान ने अफसोस जताया, कहा-दिल्ली हिंसा के खिलाफ मुस्लिम जगत में बहुत कम आवाजें उठीं

Highlights

  • दिल्ली हिंसा के नाम पर मुस्लिम देशों को उकसाने में लगे इमरान।
  • अयातुल्ला अली खामनेई और रेसेप तैयप एर्दोगान की प्रशंसा की।

By: Mohit Saxena

Updated: 07 Mar 2020, 09:44 AM IST

इस्लामाबाद। पाक के पीएम इमरान खान ने दिल्ली में हुई हिंसा पर चिंता व्यक्त की है। इमरान ने इस बात पर अफसोस जताया है कि 'दिल्ली हिंसा के खिलाफ मुस्लिम जगत में बहुत कम आवाजें उठी हैं।' इमरान ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली हिंसा और भारत में 'मुसलमानों व कश्मीर के लोगों के दमन व संहार' का मुद्दा उठाया जाना चाहिए।

महाराजा रणजीत सिंह बने दुनिया के सबसे महान नेता, सर्वेक्षण में 38 प्रतिशत से अधिक वोट पाए

उन्होंने ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातुल्ला अली खामनेई और तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगान की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि दोनों ने इन मुद्दों को दुनिया के सामने लाने की कोशिश की है। उन्होंने 'अफसोस' जताया कि इस दिशा में मुस्लिम जगत से बहुत कम आवाजें उठी हैं।

इमरान का ट्वीट खामनेई के इस ट्वीट के बाद आया जिसमें ईरानी धार्मिक नेता ने भारत सरकार से आग्रह किया कि वह 'मुसलमानों का संहार रोके और चरमपंथी हिंदुओं से निपटे।' उन्होंने कहा कि 'भारत में मुसलमानों के संहार से पूरी दुनिया के मुसलमानों का दिल दुख से भर गया है।'

ईरानी विदेश मंत्री ने भी इसी तरह का बयान दिया था, जिस पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई थी। भारत ने कहा था कि उसे अपने देश के आंतरिक मामलों में दखल बर्दाश्त नहीं होगा। ईरानी विदेश मंत्री को चयनात्मक तरीके से तथ्यों को पेश नहीं करना चाहिए।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned