भ्रष्टाचार के मामले में दक्षिण कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति से पूछताछ, लाखों डॉलर घूस लेने के आरोप

भ्रष्टाचार के मामले में दक्षिण कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति  से पूछताछ, लाखों डॉलर घूस लेने  के आरोप

Mazkoor Alam | Publish: Mar, 14 2018 07:47:40 PM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 07:56:51 PM (IST) एशिया

इससे पहले भ्रष्टाचार के मामले में बर्खास्त हुईं दक्षिण कोरिया की राष्ट्रपति पार्क ग्युन-हे को भी पूछताछ के लए बुलाया जा चुका है।

सियोल। भ्रष्टाचार के मामले में फंसे दक्षिण कोरिया के 76 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति ली म्यूंग-बाक से बुधवार को पूछताछ की गई। ली म्यूंग-बाक के परिवारों और सहयोगियों पर उनके राष्ट्रपति कार्यकाल के दौरान लाखों डॉलर घूस लेने के आरोप हैं। ली 2008 से 2013 तक दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति रहे हैं।

दक्षिण कोरियाई नागरिक एन बियुंग किल को बड़ी राहत, भारत छोड़ने पर हाईकोर्ट ने दिया ये निर्देश

आपको बता दें कि ली ने इस पूरे मामले को राजनीति से प्रेरित बताते हुए इस तरह की जांच की निंदा की है। उन्होंने कहा है कि आशा करता हूं कि दक्षिण कोरिया की राजनीतिक इतिहास में यह पहली बार होगा जब किसी पूर्व राष्ट्राध्यक्ष को पूछताछ के लिए समन भेजा जाएगा।

उत्तर-दक्षिण कोरिया में कम हुआ तनाव, किम जोंग उन से मिला साउथ कोरियाई प्रतिनिधिमंडल

गौरतलब है कि इससे पहले दक्षिण कोरिया के सभी चार जीवित पूर्व राष्ट्रपति आपराधिक मामले में दोषी और आरोपित बनाये जा चुके हैं और जांच का सामना भी किया है। राष्ट्रपति ने म्यूंग-बाक ली ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति के तौर पर उन्हें इस मामले में बहुत कुछ कहना है, लेकिन वह ज्यादा कुछ नहीं कहेंगे। पूछताछ के बाद ली के घर लौटने की उम्मीद है। हालांकि बताया जाता है कि पूछताछ पूरी होने पर जांच एजेंसी कोर्ट से उनकी गिरफ्तारी का वारंट जारी करने की मांग कर सकती है।

नए रूप में आकार लेंगे भारत और दक्षिण कोरिया के रिश्ते कोरिया में मनेगा अयोध्या महोत्सव

पार्क ग्यून-हे पर भी लगे हैं भ्रष्टाचार के आरोप
आपको बता दें कि इससे पहले भ्रष्टाचार के मामले में बर्खास्त हुईं दक्षिण कोरिया की राष्ट्रपति पार्क ग्युन-हे को भी पूछताछ के लए बुलाया जा चुका है। पार्क ने सियोल जिले में स्थित अभियोजक कार्यालय में कैमरों के सामने कहा था कि वह जनता से माफी मांगती हैं और उन्होंने साथ ही कहा कि वह पूर्ण निष्ठा के साथ पूछताछ का सामना करेंगी। हालांकि भ्रष्टाचार के मामले में शामिल होने को लेकर 9 दिसंबर को संसद में उनके खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव को मंजूरी दिए जाने के बाद उन्हें राष्ट्रपति पद से बर्खास्त कर दिया गया था।

उत्तर कोरिया पर अमरीका सख्त, एक साथ 6 लड़ाकू विमान भेजेगा दक्षिण कोरिया

Ad Block is Banned