Japan Earthquake: 7.1 तीव्रता के भूकंप से दहला जापान, 9.5 लाख घरों की बिजली गुल

HIGHLIGHTS

  • Japan Earthquake: जापान के पूर्वी समुद्री तट पर भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.1 मापी गई।
  • अमरीकी जिओलॉजिकल सर्वे ( United States Geological Survey ) ने बताया है कि भूकंप का केंद्र फुकुशिमा के करीब 54 किलोमीटर की गहराई में था।

By: Anil Kumar

Updated: 13 Feb 2021, 10:28 PM IST

टोकियो। बीते दिन तजाकिस्तान में भूकंप के झटके महसूस किए जाने के बाद आज (शनिवार) भूकंप के जोरदार झटकों से जापान की धरती थर्राता उठी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, जापान के पूर्वी समुद्री तट पर भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.1 मापी गई।

फिलहाल, सुनामी की चेतावनी जारी नहीं की गई है, लेकिन भूकंप के झटकों के कारण साढ़े नौ लाख से अधिक घरों की बिजली गुल हो गई है। अमरीकी जिओलॉजिकल सर्वे ( United States Geological Survey ) ने बताया है कि भूकंप का केंद्र फुकुशिमा के करीब 54 किलोमीटर की गहराई में था।

जापान: इजू द्वीप पर 5.9 तीव्रता वाला शक्तिशाली भूकंप, दहशत में लोग

जापान मौसम विज्ञान एजेंसी ( Japan Meteorological Agency ) के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि पूर्वोत्तर जापान के तट पर आए भूकंप के इन तगड़े झटकों ने फुकुशिमा, मियागी और अन्य क्षेत्रों को हिलाकर रख दिया। जापान के सरकारी चैनल एनएचके टीवी ने कहा कि फुकुशिमा दाई-इचि परमाणु संयंत्र में इस भूकंप के चलते कोई खराबी तो नहीं आई है इसकी छानबीन का काम जारी है। फिलहाल, भूकंप के कारण अन्य परमाणु संयंत्रों में किसी गड़बड़ी की कोई तत्काल रिपोर्ट सामने नहीं आई है।

9.5 लाख घरों में बिजली गुल

बता दें कि भूकंप के कारण अभी तक किसी भी प्रकार के जानमाल के नुकसान की कोई खबर सामने नहीं आई है। जापान के सरकारी चैनल एनएचके टीवी ने बताया है कि भूकंप का केंद्र समुद्र में 60 किलोमीटर की गहराई में था। भूकंप के झटके टोकियो समेत दक्षिण पश्चिम के कई शहरों में महसूस किए गए।

जापान: होकैडो द्वीप पर 6.7 तीव्रता का भूकंप, भूस्खलन से कई घर तबाह

रिपोर्ट के अनुसार, भूकंप उसी क्षेत्र में आया जहां पर मार्च 2011 में सुनामी की त्रासदी आई थी और 18 हजार लोगों की मौत हो गई थी। सरकार के प्रवक्ता कात्सुनोबु काटो ने एनएचके को बताया कि भूकंप के बाद लगभग 950,000 घरों की बिजली चली गई है। दोनों परमाणु संयंत्रों फुकुशिमा दाई-नी और ओनागावा से किसी गंभीर नुकसान की रिपोर्ट नहीं है।

गौरतलब है कि एक दिन पहले यानी शुक्रवार की रात 10:31 बजे दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में भूकंप के जोरदार झटके महसूस किए गए थे। भूकंप का केंद्र तजाकिस्तान में जमीन से करीब 90 किलोमीटर नीचे था। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.3 मापी गई थी।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned