संसद सत्र में भाग लेने के बाद जेल भेजे गए विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ

संसद सत्र में भाग लेने के बाद जेल भेजे गए विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ

Mangala Prasad Yadav | Publish: Nov, 10 2018 04:29:07 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 04:29:08 PM (IST) एशिया

भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार किए गए शरीफ को अब 24 नवंबर तक जेल में रहना पड़ेगा। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने शाहबाज शरीफ की हिरासत 15 दिन बढ़ाने के लिए कोर्ट से गुहार से लगाई थी।

इस्लामाबादः पाकिस्तान में विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ की न्यायिक हिरासत 14 दिन के लिए बढ़ा दी गई है। भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार किए गए शरीफ को अब 24 नवंबर तक जेल में रहना पड़ेगा। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने शाहबाज शरीफ की हिरासत 15 दिन बढ़ाने के लिए कोर्ट से गुहार से लगाई थी। इससे पहले शरीफ की न्यायिक हिरासत खत्म होने पर लाहौर कोर्ट में पेश किया। पिछले महीने शाहबाज शरीफ को भ्रष्टाचार के एक मामले में गिरफ्तार किया गया था। एनएबी के वकील वारिस अली जंजुआ ने कहा कि नेशनल असेंबली के सत्र में भाग लेने की वजह से शरीफ से पूछताछ पूरी नहीं हो सकी है। बता दें कि संसद सत्र में भाग लेने के लिए शाहबाज शरीफ को कोर्ट ने इजाजत दी थी जिसके बाद उन्हें इस्लामाबाद ले जाया गया था। अब एक बार फिर विपक्ष के नेता को जेल जाना पड़ा।

इस मामले में गिरफ्तार हुए हैं शाहबाज शरीफ
पिछले महीने अक्टूबर में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के छोटे भाई शाहबाज शरीफ को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने आशियाना इकबाल भवन योजना में घोटाले के आरोप में गिरफ्तार किया था। इस मामले में एनएबी वरिष्ठ नौकरशाह फवाद हसन फवाद को भी गिरफ्तार कर चुकी है।
क्या है पूरा मामला
पाकिस्तान के हिस्से वाले पंजाब प्रांत के पूर्व मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ इस समय पाकिस्तान में विपक्ष के नेता हैं। आशियाना इकबाल भवन योजना में मुख्यमंत्री रहते हुए उन पर भ्रष्टाचार का आरोप है। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने कहा है कि शाहबाज शरीफ के खिलाफ भ्रष्टाचार के ठोस सबूत हैं।

 

Ad Block is Banned