China में कोविड-19 के बाद अब मिला नया खतरनाक वायरस, Monkey B संक्रमण से पहली मौत

चीन में मंकी बी (Monkey B) नाम का वायरस मिला है। इस वायरस के इंफेक्शन से बीजिंग में रहने वाले एक वेटनरी डॉक्टर (जानवरों का डॉक्टर) की मौत हो चुकी है।

By: Anil Kumar

Updated: 18 Jul 2021, 09:29 PM IST

बीजिंग। चीन के वुहान शहर में सबसे पहले मिले कोविड वायरस से आज दुनिया भर में 40 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और करोड़ों लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। कोविड संक्रमण लगातार अभी भी लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है और हर दिन हजारों लोगों की मौत हो रही है।

हालांकि, कोविड से बचाव के लिए अब दुनियाभर में तेजी के साथ टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। लेकिन इस बीच अब चीन से कोविड के बाद एक और नया खतरनाक वायरस सामने आया है। इस वायरस की चपेट में आने से चीन में एक शख्स की मौत भी हो चुकी है। ऐसे में दुनिया के लिए एक बार फिर से चिंताएं बढ़ गई हैं।

यह भी पढ़ें :- सावधान! कोविड पॉजिटिव मरीजों में बढ़े TB के मामले, सरकार ने जारी की एडवाइजरी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन में मंकी बी (Monkey B) नाम का वायरस मिला है। इस वायरस के इंफेक्शन से बीजिंग में रहने वाले एक वेटनरी डॉक्टर (जानवरों का डॉक्टर) की मौत हो गई है। चाइना सीडीसी साप्ताहिक की रिपोर्ट में बताया गया है कि डॉक्टर ने मार्च की शुरुआत में दो बंदरों का ऑपरेशन किया था। इसके बाद वह इस वायरस की चपेट में आ गया और फिर उसकी मौत हो गई।

मई में डॉक्टर की हुई मौत

चाइना सीडीसी साप्ताहिक ने शनिवार को अपनी रिपोर्ट में बताया है कि इस साल मार्च में 53 वर्षीय वेटनरी डॉक्टर ने दो बंदरों का ऑपरेशन किया था। इसके बाद डॉक्टर को मचली की शिकायत होने लगी। एक महीने के भीतर उन्हें उल्टी, बुखार और न्यूरोलॉजिकल समस्याएं होने लगी।

इस तरह की शिकायत आने के बाद डॉक्टर ने अपना इलाज भी कराया, लेकिन इसमें कोई सुधार नहीं हुआ और फिर 27 मई को उनकी मौत हो गई। इससे पहले अप्रैल में कुछ शोधकर्ताओं ने डॉक्टर के कुछ तरल पदार्थ की जांच की थी। इसमें अल्फाहेपेस्वायरस इंफेक्शन की बात सामने आई थी।

यह भी पढ़ें :- Post covid-19 फेफड़ों में निमोनिया के साथ हार्ट पर सीधे कर रहा वार, जानिए क्यों

इसके बाद शोधकर्ताओं ने आगे की जांच के लिए खून, गले का स्वैब, नाक का स्वैब आदि के नमूने जुटाए और इन नमूनों को चीन के नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर वायरल डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन आईवीडीसी में भेजा। आईवीडीसी ने नमूनों के चार परीक्षण किए। यह परीक्षण मंकी बी, वैरिसेला जोस्टर वायरस, मंकीप्रॉक्स वायरस और ऑर्थोपोक्सवायरस के लिए किए गए। इन चारों में से सिर्फ मंकी बी वायरस ही पॉजिटिव पाया गया। अब ये मामला सामने आने के बाद से चीन में जरूरी एहतियात बरती जा रही है।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned